नई दिल्ली. तुर्की ने शुक्रवार को बोस्फोरस स्ट्रेट (पानी का संकरा मार्ग) पर दुनिया के सबसे चौड़े सस्पेंशन पुल को खोल दिया है. इससे तुर्की के बड़े शहरों में से एक इंस्तांबुल के एशियाई और यूरोपीय क्षेत्रों में अब यात्रा आसान हो गई है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस्तांबुल बोस्फोरस स्ट्रेट के आर-पार दो हिस्सों में फैला हुआ है, इसके एक हिस्से में एशियाई क्षेत्र और दूसरे में यूरपीय क्षेत्र है. इस पुल के उद्घाटन के अवसर पर तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने कहा, “हम दो द्वीपों को जोड़ रहे हैं।”
 
इस पुल का नाम 16वीं सदी के उस्मान (आॅटोमन) सुल्तान यावुज सुल्तान सेलिम के नाम पर रखा गया है, जिन्हें मध्य-पूर्व में अपने विजय अभियान के लिए जाना जाता है।
 
इस पुल की लागत तीन अरब डॉलर है और यह 58.4 मीटर चौड़ा है। यह दुनिया का सबसे चौड़ा पुल है. इस पर आठ रोड लेन और दो रेलवे ट्रैक हैं. इसकी लंबाई 1.4 किलोमीटर है। 344 मीटर की लंबाई के साथ इस पुल के टावर भी दुनिया में सबसे लंबे हैं.