ढाका. जुलाई में बांग्लादेश की राजधानी ढाका के बेहद पॉश माने जाने वाले गुलशन इलाके के एक रेस्त्रां में एक भारतीय युवती समेत 22 लोगों  को आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया था. इस नरसंहार का मास्टर माइंड कनाडाई-बांग्लादेशी तमीम अहमद चौधरी अपने तीन साथियों के साथ पुलिस मुठभेड़ में मारा गया. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गुलशन कैफ़े हमले का ‘मास्टरमाइंड’ तमीम अहमद चौधरी प्रतिबंधित संगठन जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश का चीफ था. शुक्रवार को ही बांग्लादेश के गृहमंत्री ने बयान दिया था कि गुलशन कैफे हमले के मास्टरमाइंड की पहचान कर ली गई है. वरिष्ठ पुलिस अधिकारी सनवर हुसैन ने बताया कि गुलशन हमले का मास्टरमाइंड तमीम, कनाडाई-बांग्लादेशी नागरिक था.

 
1-2 जुलाई की रात बांग्लादेश के होली आर्टिसन बेकरी में आतंकी हमला हुआ था. इस हमले में 17 विदेशियों समेत 22 लोगों की मौत हो गई थी. 10 घंटे तक चली कार्रवाई के बाद बांग्लादेशी सुरक्षा बलों ने 6 आतंकियों को मार गिराया था जबकि एक आतंकी को पकड़ लिया गया था.