विडंसर. लंदन के पास विंडसर में स्मार्ट इंडिया समिट के दूसरे दिन स्मार्ट पावर पर महामथन हुआ. इसमें मुद्दा उठाया गया कि स्मार्ट इंडिया की राह में चुनौतियां कितनी हैं और संभावनाएं कितनी हैं ? स्मार्ट इंडिया का सबसे महत्वपूर्ण पहलू हैं बिजली, जो ना सिर्फ स्मार्ट सिटी बनाने के लिए, बल्कि देश के विकास के लिए भी ज़रूरी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
अगर स्मार्ट इंडिया की नींव खड़ी करनी है तो उसका एक मजबूत पिलर स्मार्ट पावर पर टिका है. स्मार्ट पावर मतलब स्मार्ट तरीके से न सिर्फ बिजली पैदा करना बल्कि उसे उतने ही स्मार्ट तरीके से जरूरतमंदों तक पहुंचाना. जिसके गांव-घर में बिजली नहीं है, उसके लिए बिजली सबसे बड़ा सपना है, और जहां बिजली है, वहां 24 घंटे की सप्लाई सबसे बड़ी चुनौती.
 
लंदन में स्मार्ट इंडिया कार्यक्रम में देश और विदेश के एक्सपर्ट के बीच लंबी चर्चा हुई कि क्या भारत में हर घर तक 24 घंटों बिजली पहुंचा पाना संभव है?
 
स्मार्ट ग्रिड क्या है
पावर प्लांट से पैदा बिजली लोगों के घर तक निर्बाध पहुंचती रहे, उस टेक्नोलॉजी का नाम है स्मार्ट ग्रिड. साथ ही किसी भी देश में लोगों तक कोई सुविधा पहुंचाने के लिए तीन चीजों की जरूरत होती है पॉलिसी, टेक्नोलॉजी और बुनियादी ढांचे के लिए पूंजी की.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
इंडिया न्यूज की खास पेशकश में देखिए क्या खास है स्मार्ट ग्रिड में और स्मार्ट इंडिया की राह में चुनौतियां कितनी है और संभावनाएं कितनी हैं.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरो शो

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App