सियोल. बुद्धवार को उत्तर कोरिया ने मध्यम दूसरी वाली दो मिसाइलों का परीक्षण किया. जिसके बाद दुनिया भर के देशों ने उत्तरी कोरिया के इस कदम की निंदा की हैं.  दक्षिण कोरिया से आई खबरों के अनुसार नॉर्थ कोरिया ने आज मध्यम दूरी तक मार करने में सक्षम मुसुदन मिसाइल का लगातार दूसरी बार परीक्षण किया, जबकि पहला मिसाइल विफल रहा.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि इन दोनों परीक्षणों में से एक परीक्षण नाकाम रहा. मंत्रालय के अनुसार, पहला परीक्षण स्थानीय समयानुसार सुबह 6 बजे से कुछ पहले किया गया लेकिन ऐसा लगता है कि यह परीक्षण असफल रहा.
 
अमेरिका ने उत्तर कोरिया द्वारा बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किए जाने की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि यह कदम खतरा पैदा करने वाला और उकसाने वाला है. दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि इस तरह का परीक्षण संयुक्त राष्ट्र प्रस्तावों का स्पष्ट रूप से उल्लंघन है. जापान के प्रधानमंत्री शिन्जो आबे ने कहा कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव में उत्तर कोरिया पर बैलिस्टिक मिसाइल प्रौद्योगिकी का उपयोग करने पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है. आज के परीक्षण से कुछ घंटे पहले ही पेंटागन ने प्योंगयांग को किसी भी मिसाइल के परीक्षण पर आगे बढ़ने को लेकर चेताया था.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App