इस्लामाबाद. पाकिस्तान के लाहौर में बसी देश की सबसे बड़ी ईसाई कालोनी में रविवार को दो गिरिजाघरों में प्रार्थना के दौरान तालिबान के आत्मघाती हमलों में 14 लोग मारे गए और 68 अन्य घायल हो गए. हमले के तुरंत बाद भीड़ ने दो संदिग्धों को कथित तौर पर पीटा. बाद में भीड़ ने उन्हें आग के हवाले कर दिया. उनका शरीर पूरी तरह जल गया. इससे पहले हमलावरों ने रविवार की प्रार्थना के दौरान योहानाबाद इलाके में स्थित रोमन कैथलिक चर्च और क्राइस्ट चर्च के दरवाजों पर विस्फोट कर दिया जिसके बाद वहां भगदड़ मच गई और दहशत में आए लोग अपनी जान बचाने के लिए भागने लगे.साल 2013 में पेशावर के कोहाटी गेट इलाके में आल सेंट्स चर्च पर दो आत्मघाती हमलों में 80 लोग मारे गए थे और 100 से अधिक घायल हो गये थे. घटनाओं के बाद ईसाई सड़कों पर उतरे और शहर में अनेक रास्तों पर यातायात अवरुद्ध कर दिया.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर