सियोल. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कहा कि भारत और दक्षिण कोरिया अपने रक्षा और सुरक्षा सहयोग बढ़ाने को तैयार हो गए हैं. उन्होंने भारत में विनिर्माण और रक्षा उपकरणों में निवेश करने के लिए दक्षिण कोरियाई कंपनियों का आह्वान किया. दोनों देशों ने दोहरे कराधान से बचाव सहित सात समझौतों पर हस्ताक्षर किए.

दक्षिण कोरिया की राष्ट्रपति पार्क ग्युन-हे से चर्चा के बाद जारी एक बयान में मोदी ने कहा कि दोनों देशों ने अपने द्विपक्षीय संबंधों को, विशेष रूप से रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने पर सहमति जताई है. मोदी ने कहा कि उन्हें और पार्क को हमारे ‘मेक इन इंडिया’ मिशन में भागीदारी हेतु कोरियाई कंपनियों के लिए व्यापक अवसर दिखाई देते हैं. 

मोदी ने कहा, “रक्षा उपकरणों के अलावा, मैंने जहाज निर्माण (एलएनजी टैंकर सहित) जैसे क्षेत्रों में कोरियाई निवेश को आमंत्रित किया है. ” दोनों पक्ष संयुक्त कार्य समूह की स्थापना को लेकर भी सहमत हैं.  मोदी ने कहा, “कोरियाई कंपनियां एलएनजी टैंकरों के अधिग्रहण और निर्माण की भारतीय योजनाओं में शामिल होंगी.”

IANS

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App