ढाका. बांग्लादेश के दक्षिण तट पर चक्रवाती तूफान रोनू ने शनिवार को भयंकर तबाही मचाई है. इस तबाही में 24 लोगों की जान चली गई और 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं. सरकार ने पांच लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है.
 
88 किलोमीटर प्रतिघंटा की तेज हवा के साथ आए इस चक्रवात की वजह से शनिवार की सुबह ही देश के ज्यादातर जगहों पर बारिश हुई और गरज के साथ बौछारें पड़ीं. तूफान ने बारीसाल-चटगांव क्षेत्र पर बहुत बुरा असर डाला है और अन्य हिस्से भी प्रभावित हुए हैं.
 
बांग्लादेश के आपदा प्रबंधन विभाग के महानिदेशक मोहम्मद रियाज अहमद ने कहा है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है. दोपहर बाद यह उष्णकटिबंधीय चक्रवात क्रमिक रूप से ढीला पड़ गया.
 
ओडिशा में भी रोनू का कहर
 
बांग्लादेश के साथ साथ रोनू का कुछ असर ओडिशा के बालासोर में भी दिखाई दिया है. तेज हवा और बारिश की वजह से राज्य के लोगों के जीवन पर प्रभाव पड़ता दिखाई दे रहा है. कहा जा रहा है रोनू जल्द ही पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों पर भी अपना असर दिखा सकता है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App