नई दिल्ली. भारत में इस्लामिक स्टेट(आईएस) में आतंकियों को भर्ती करने वाला मोहम्मद शफी अर्मार सीरिया में कुछ दिन पहले अमेरिकी ड्रोन अटैक में मारा गया.
 
रिपोर्ट के मुताबिक शफी को यूसुफ नाम से भी जाना जाता था. कहा जा रहा है कि यूसुफ नाम से भी जाना जाता था. कहा जा रहा है कि यूसुफ आईएस चीफ अबु बकर अल-बगदादी का बेहद करीबी था. उसे इंडिया में इस्लामिक स्टेट की जड़े मजबूत करने की जिम्मेदारी दी गई थी.
 
बता दें कि 600 से 700 भारतीय युवाओं से आईएस में भर्ती के लिए फेसबुक ग्रुप के जरिए संपर्क रखने के मामले में शफी संदिग्ध था. वह सोशल साइट के कई मंचों का भर्तियों के लिए इस्तेमाल कर रहा था. वह हवाला के जरिए फंड की भी व्यवथा करता था. वह सीरिया से भारत फंड भेजता था. भारत की सुरक्षा एजेंसियों की शफी और उसकी गतिविधियों पर गहरी नजर बनी हुई थी. 
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App