वाशिंगटन. अमेरिका में न्यूयार्क ट्राइस्टेट एरिया (न्यूयार्क के साथ-साथ न्यूजर्सी और कनेक्टीकट का कुछ हिस्सा) में भारतीय मूल के अमेरिकियों के एक हिस्से ने राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन दावेदार डोनाल्ड ट्रंप को समर्थन देने का एलान किया है. इन भारतवंशियों ने ट्रंप के समर्थन और उनके लिए कोष एकत्र करने की खातिर पोलिटिकल एक्शन कमेटी (पीएसी) का गठन किया है. 
 
बीते हफ्ते संघीय जांच आयोग में ‘इंडियन-अमेरिकन फार ट्रंप 2016’ को बतौर पोलिटिकल एक्शन कमेटी के रजिस्ट्रेशन कराया गया है. इसके प्रमुख न्यूजर्सी के सेटोन हॉल यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर डॉक्टर ए. डी. अमर हैं. 
 
पीएसी ने एक बताया कि उसका एकमात्र लक्ष्य ‘डोनाल्ड जे.ट्रंप को अमेरिका का नया राष्ट्रपति बनाने के लिए सभी अमेरिकियों, खासकर भारतीय-अमेरिकियों का समर्थन हासिल करना है.’ 
 
पीएसी ने अपने बयान में कहा है, “डोनाल्ड जे.ट्रंप का एजेंडा अमेरिकी अर्थव्यवस्था में नई जान फूंकना, अमेरिका को फिर से विश्व मंच पर स्थापित करना, आतंकवाद को परास्त करना और ताकत के बल पर शांति स्थापित करना है. इसे देखते हुए भारतीय-अमेरिकियों का यह विश्वास है कि ट्रंप अमेरिका के लिए सर्वश्रेष्ठ उम्मीद हैं और अमेरिका का अगला राष्ट्रपति बनने के लिए सही प्रत्याशी हैं.” 
 
ट्रंप के चुनाव अभियान प्रबंधन की तरफ से इस पीएसी के गठन पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. ट्रंप पहले कह चुके हैं कि वह किसी व्यक्ति से या विशेष हित समूहों से कोई धन नहीं लेंगे और न ही पीएसी का समर्थन लेंगे. 
 
न्यूयार्क स्थित वकील आनंद आहूजा को पीएसी का उपाध्यक्ष और न्यूजर्सी के व्यापारी देवेंद्र दवे मक्कड़ को कोषाध्यक्ष बनाया गया है. अमर ने कहा, “यह अभी पहला कदम है. हम इस चुनाव में ट्रंप के साथ हैं.” उन्होंने कहा कि अवैध आव्रजन और अर्थव्यवस्था के बारे में रिपब्लिकन नेता के विचार उनके समर्थन का मुख्य आधार हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App