लंदन. प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि भारत ने पठानकोट आतंकी हमले के गुनहगारों को कार्रवाई का भरोसा दिया है. नवाज ने कहा है कि भारत पठानकोट हमले के संबंध में नए सबूत दिए हैं. हम पाकिस्तान कार्यकर्ताओं को कानून के दायरे में लाने के लिए इनकी जांच हो रही है.  
 
‘हम सबूतों को छिपा सकते थे’
नवाज शरीफ ने कहा, मुझे पठानकोट हमले पर भारत से नए सुराग मिले हैं और हम भारत द्वारा दिए सबूतों को देखेंगे तथा उनकी जांच करेंगे. हम इसे छिपा सकते थे या भूल सकते थे, लेकिन हमने कहा है कि हमें सबूत मिले हैं. नवाज ने दावोस में विश्व आर्थिक मंच में हिस्सा लेने के बाद लंदन आने पर कहा, हम उनकी जांच और सत्यापन कर रहे हैं. एक बार हम यह काम कर लेंगे तो फिर निश्चित रूप से तथ्यों को आगे बढ़ाएंगे. इसके साथ ही हमने एक विशेष जांच दल भी बनाया है जो भारत जाएगा और सबूत इकट्ठे करेगा.
 
कार्रवाई के लिए शरीफ ने वादा किया 
नवाज शरीफ ने कहा, मेरी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात हुई थी और उन्होंने षडयंत्रकारियों को न्याय के कटघरे में लाने के लिए अपनी ओर से हरसंभव मदद की पेशकश की थी. हम सही दिशा में जा रहे हैं और मुझे उम्मीद है कि षडयंत्रकारियों को न्याय के कटघरे में जल्द ही लाया जाएगा. आतंकवादियों से निपटने के लिए पाकिस्तान के कार्रवाई करने का शरीफ ने वादा किया था लेकिन यह भी माना था कि प्रगति अक्सर बहुत धीमी होती है. 
 
हाफिज की चैरिटी पर लगेगी रोक?
पाकिस्तानी गृह मंत्रालय के अफसरों ने कहा है कि हुकूमत आतंकी संगठन जमात-उद-दावा (JuD) के सरगना हाफिज सईद की चैरिटी संस्था फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन पर भी रोक लगाने पर विचार कर रही है. मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद ही था. पाकिस्तान का कहना है कि उसने कई ठिकानों पर छापेमारी कर उन्हें सील किया है. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App