काठमांडू. नेपाल भूकंप पीड़ितों ने नेपाली प्रधानमंत्री सुशील कोईराला को राहत कैंप का दौरे से वापस लौटा दिया है. खबर के अनुसार कोईराला प्रभावित क्षेत्र में दौरा करने आए थे लेकिन दवा और भोजन की कमी से झल्लाए लोगों ने उन्हें वापस लौटा दिया. यहां ये बातें सामने आ रही है कि भूकंप पीड़ितों के लिए राहतें सिर्फ काठमांडू तक ही सीमित है, जबकि सरकार ने नौ जिलों को भूकंप से अत्यधिक प्रभावित इलाके घोषित किया है.

एनडीटीवी की खबर के अनुसार पीड़ितों ने कोईराला के विरोध में नारे भी लगाए. सरकार की तरफ से बात करते हुए उनके सलाहकार ने कहा कि नेपाल के साथ यह आपदा पहली बार हुई है, इसलिए सरकार को मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है. इससे पहले नेपाल के प्रधानमंत्री सुशील कोईराला ने स्वीकार किया है कि राहत एवं बचाव अभियान प्रभावी साबित नहीं हुए हैं. उन्होंने आशंका जताई थी कि मरने वालों की संख्या 10 हजार तक पहुंच सकती है. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App