काबुल. अफगानिस्तान में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से जुड़े आतंकियों ने देश में आतंकी विचार के प्रचार-प्रसार और लड़ाकों की भर्ती के लिए सरकार विरोधी रेडियो स्टेशन शुरू किया है.
 
टीओएलओ न्यूज ने रविवार को अपनी रिपोर्ट में बताया कि रेडियो का नाम ‘वायस ऑफ खलीफा’ है. पश्तो भाषा में इसकी प्रसारण सेवा के दायरे में नांगरहार की प्रांतीय राजधानी जलालाबाद और अन्य जिले आ रहे हैं. नांगरहार के जन प्रतिनिधियों और निवासियों ने इसकी पुष्टि की है.
 
इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी है कि प्रसारण कहां से हो रहा है. नांगरहार के गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्लाह खोगयानी ने कहा कि रेडियो सेवा को बंद करने की कोशिश हो रही है. उन्होंने कहा, “रेडियो सेवा का प्रसारण सीमा पार से हो रहा है. हम बातचीत कर रहे हैं और हो सकता है कि अच्छे नतीजे पर पहुंचे और रेडियो को बंद करा सकें.” रेडियो प्रसारण में युवाओं का आह्वान किया जा रहा है कि वे सरकार के खिलाफ उठें और आईएस के सदस्य बनें.
 
एक स्थानीय निवासी ने कहा, “सरकार को इस रेडियो को बंद करना चाहिए. इसका सच में युवाओं पर बुरा असर पड़ रहा है.” लेकिन, नांगरहार के सूचना एवं संस्कृति विभाग के प्रमुख अवोरांग सामिम ने कहा कि इस तरह के किसी रेडियो स्टेशन की जानकारी नहीं है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App