वाशिंगटन. अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ताइवान में 1.83 अरब डॉलर के हथियारों को बेचे जाने की घोषणा की है. जिसका चीन ने कड़ा विरोध किया है. 
 
इस फैसले पर चीन ने आपत्ति जताते हुए कहा कि इस तरह के कदम से चीन-अमेरिका के संबंध खराब होंगे. बता दें इस समझौते के तहत अमेरिका ताइवान को दो पेरी-क्लास गाइडेड मिसाइल, टैंक रोधी मिसाइल, एएवी-7 (एम्फिबियस असॉल्ट व्हीकल्स), मिसाइलें और दूसरे सैन्य उपकरण बेचेगा. 
 
वहीं चीन के उप विदेश मंत्री झेंग जेगुआंग ने चीन में अमेरिकी दूतावास के अधिकारी काय ली से बात कर इस फैसले पर आपत्ति जताई है. झेंग ने कहा, ‘ताइवान, चीन का एक महत्वपूर्ण अंग है और चीन ताइवान में अमेरिका द्वारा हथियारों की बिक्री का विरोध करता है. और ताइवान में हथियारों की बिक्री अंतर्राष्ट्रीय कानून और अंतर्राष्ट्रीय संबंध के बुनियादी नियमों के खिलाफ है. 
 
IANS

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App