नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी सरकार ने अपना आखिरी पूर्ण बजट पेश किया. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2018-19 के बजट में आम लोगों को तगड़ा झटका दिया है. अरुण जेटली ने अपने पांचवे बजट में कस्टम ड्यूटी को 15 प्रतिशत से 20 प्रतिशत बढ़ाने का फैसला लिया है. मोदी सरकार के इस प्रस्ताव से विदेश से आने वाला टीवी, मोबाइल फोन, फ्रीज, लैपटॉप आदि इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट महंगे हो जाएंगे.

मोदी सरकार के इस प्रस्ताव से आम लोगों को तगड़ा झटका लगा है. इस बजट के पास हो जाने के बाद विदेश से आयात किए जाने वाले सभी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस महंगे हो जाएंगे. इसका साफ मतलब ये है कि अगर आप स्मार्टफोन पर कस्टम ड्यूटी बढ़ने से फोन बनाने वाली कंपनी इलेक्ट्रॉनिक दाम बढ़ा देगी. अगर आप फोन खरीदने जाएंगे तो आपको बढ़ी हुई कीमत देनी होगी. बता दें टैक्स के एकीकरण यानि जीएसटी लागू हो जाने के बाद से सरकार के हाथों में केवल कस्टम ड्यूटी पर ही सरकार का पूरा नियंत्रण रहा गया है.

गौरतलब है कि पहले कस्टम ड्यूटी 15 प्रतिशत लगा करती थी. बजट 2018-19 पास होने के बाद से कस्टम ड्यूटी 20 प्रतिशत बढ़ जाएगी. इस प्रस्ताव का असर विदेश से आयात किए जाने वाले कॉस्मेटिक्स, मीट, इंपोटेड तेल, मसाले, अनाज, साबुन और डेयरी प्रोडक्ट्स महंगे हो जाएंगे. बता दें इसके अलावा मोदी सरकार के इस बजट में इनकम टैक्स स्लैब में भी कोई भी बदलाव नहीं किया गया है. 

Union Budget 2018: तमाम खर्चों पर शिक्षा और स्वास्थ्य सेस 3 से बढ़कर 4 फीसदी होगा

Union Budget 2018 India: सैलरी वालों को लॉलीपॉप, इनकम टैक्स स्लैब में चेंज नहीं पर 2.90 लाख तक टैक्स भी नहीं

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App