नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पांचवा पूर्ण बजट पेश किया. इस बजट में मोदी सरकार ने देश में सभी वर्गों को ध्यान में रखा. हर बार की तरह इस बार भी बजट के बाद कुछ चीजें महंगी हुईं तो वहीं कुछ चीजें सस्ती हुईं हैं. बजट 2018 में टीवी सेट, मोबाइल, लैपटॉप, फ्रिज जैसे चीजें महंगे हुए हैं. इनका महंगे होने का कारण ये है क्योंकि विदेश से आयात होने वाले सामानों पर लगने वाला कस्टम ड्यूटी को 5 फीसदी बढ़ा दिया गया है.

किसानों के लिए मोदी सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य देने का प्रस्ताव लाए हैं. साथ ही खरीफ की फसल पर 1.5 गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य देंगे. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बजट प्रस्ताव में कहा है कि आलू-प्याज-टमाटर की खेती के लिए 500 करोड़ रुपए दिए जाएंगे. वहीं कृषि कर्ज को 1 लाख करोड़ बढ़ाकर 11 लाख करोड़ किया गया और 42 मेगा फूड पार्क बनाए जाएंगे. सरकार ऑपरेशन ग्रीन शुरू करेगी. बांस देश के लिए ग्रीन गोल्ड है, इसकी पैदावार बढ़ाने के लिए 1290 करोड़ खर्च किए जाएंगे. फूड प्रोसेसिंग को 1400 करोड़ रुपए का बजट रखा गया है. ऑपरेशन फ्लड की स्टाइल में आलू और टमाटर के दामों में उतार-चढ़ाव के नुकसान को रोकने के लिए खास इंतजाम किए गए हैं.

ये चीजें हुई महंगी
– कॉस्मेटिक प्रोडेक्ट
– इंपोटेंट तेल
– टीवी-मोबाइल के दाम बढ़ेंगे.
– विदेशी मोबाइल, लैपटॉप भी महंगे होंगे.
– इलेक्ट्रोनिक्स और फूड प्रोसेसर पर 5 प्रतीशत की कस्टम ड्यूटी बढ़ाई.
– 31 जनवरी 2018 के बाद खरीदा शेयर पर 10 पर्सेंट टैक्स
– मेडिकल बिल पर 15 हजार की छूट नहीं रहेगी.
– एलसीडी-एलईडी-ओएलईडी टीवी के कलपुर्जों पर सीमा शुल्क को बढ़ाकर 15 प्रतिशत किया.
– विदेश से आयात अनाज, मसाले

ये चीजें हुई सस्ती
– लिक्विफाइड पेट्रोलियम गैस (LPG)
– प्रिपेएर्ड लेदर
– सिल्वर फॉयल
– पीओसी मशीनें
– फिंगर स्कैनर
– माइक्रो एटीएम
– आइरिस स्कैनर
– सौर बैटरी
– देश में तैयार हीरे
– ई-टिकट पर से सर्विस टैक्स कम किया गया.

Union Budget 2018: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पेश किया चुनावी बजट ! जानिए इससे जुड़ी 10 बड़ी बातें

बजट के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने मोदी और जेटली से कहा- मारो, हमको और मारो

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर