नई दिल्ली. गुरुवार को आम बजट में केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर से एक्साइज ड्यूटी घटाने का फैसला किया. जिसके बाद पेट्रोल और डीजल दो रुपये सस्ता हो जाने की खबर आई कि घटी हुई कीमतें आज आधी रात से लागू होंगी. लेकिन अब वित्त सचिव हंसमुख अधिया ने साफ किया है कि पेट्रोल और डीजल पर से 2 रुपये एक्सरसाइज हटाकर इसे सेस में बदल दिया गया है. ऐसे में पेट्रोल और डीजल के दामों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है और न ही वे सस्ते हुए हैं.

गौरतलब है कि पिछले कुछ समय में अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें लगातार बढ़ी है जिसके कारण यहां भी पेट्रोल और डीजल के दाम काफी बढ़े हैं और यही वजह है कि केंद्र की मोदी सरकार पर एक्साइज ड्यूटी घटाने का दवाब बना हुआ है. ऐसे में एक्साइज ड्यूटी घटाने के बाद उतना ही सेस लगाकर सरकार ने तेल की कीमतों में गिरावट की उम्मीदों पर फिलहाल तो पानी फेर दिया है.

पिछले साढ़े तीन वर्षों में डीजल पर उत्पाद शुल्क 3.56 रुपये से बढ़कर 17.33 रुपये प्रति लीटर हो गया, वहीं पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 9.48 से 21.48 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच चुका है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में फिलहाल इस समय क्रूड ऑयल की कीमत 67 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर है. साल 2014 की शुरूआत में यह 115 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंच चुका था. विशेषज्ञों ने बताया कि ऑयल कंपनियां तीन आधार पर पेट्रोल और डीजल के दाम तय करती हैं.

बजट 2018: अरुण जेटली पर बरसे अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया, कहा- दिल्ली के साथ हुआ सौतेला व्यवहार

आम आदमी के लिए बजट को बताया झुनझुना, यूजर्स बोले- मिडिल क्लास पकौड़े बेचे और टैक्स भरे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App