वाराणसी यूपी : Varanasi Up

वाराणसी Varanasi  के गंगा घाटों और धार्मिक स्थलों पर विश्वहिन्दू परिषद VHP और बजरंग दल Bajrangdal  की तरफ से ‘गैर हिन्दुओं का प्रवेश प्रतिबंधित’ वाले पोस्टर लगाए गए हैं. साथ ही बाकायदा हिदायत देते हुए कहा गया है. कि जिनकी आस्था में सनातन धर्म है, उन लोगों का स्वागत है, अन्यथा यह पिकनिक स्पॉट नहीं है.

पहले भी हो चुकी है ऐसी घटना

वैसे यह कोई पहला मामला नहीं है, जब काशी Varanasi  में बजरंग दल और विश्व हिन्दू परिषद की ओर से ऐसी बात की गई हो. इससे पहले भी बीते 25 दिसम्बर को एक चर्च के बाहर हनुमान चालीसा पाठ किया गया था. और नए साल के दिन वाराणसी के मॉल और रेस्टोरेंट के बाहर पश्चात्य संस्कृति से जुड़ी पार्टी सेलिब्रेसन न किये जाने की चेतावनी वाले पोस्टर लगाए गए थे.

आपको बता दें दोनों हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने इस बार गैर हिन्दुओं के प्रतिबंधित प्रवेश वाले पोस्टर गंगा घाट के किनारे बने पक्के घाटों और धार्मिक दीवारों पर चिपकाया है. और साफ तौर पर लिखा गया है,कि जिन लोगों की आस्था सनातन धर्म नहीं है उनका स्वागत नहीं है, अन्य का प्रवेश वर्जित है.

VHP के मंत्री ने दी हिदायत

इस पोस्टर को जारी करने वाले VHP  काशी महानगर मंत्री राजन गुप्ता ने बताया कि यह केवल चिपकाया जाने वाला पोस्ट नहीं, बल्कि एक चेतावनी भरा संदेश है. आगे उन्होने कहा कि गंगा घाट मंदिर और धार्मिक स्थल हिन्दू धर्म की आस्था का प्रतीक है.

गैर सनातनी लोगों को हमारे धार्मिक स्थलों से दूर रहने की चेतावनी दी जाती है. यहां कोई पिकनिक स्पॉट नहीं है. जिन लोगों की आस्था सनातन धर्म में नहीं है, उन्हें हम स्वागत के बजाए खदेड़ने का भी काम करेंगे. वहीं बजरंग दल की ओर से काशी महानगर के संयोजक निखिल त्रिपाठी ने कहा कि यह पोस्टर नहीं है, बल्कि अविरल मां गंगा को पिकनिक स्पॉट की तरह मानने वालों के लिये चेतावनी है. कि ऐसे लोग सनातनी धार्मिक स्थलों से दूर रहें, नहीं तो बजरंग दल उन्हें दूर करने का काम शुरू कर देगा ।

 

SHARE