Assembly Election : विधानसभा चुनाव

उत्तर प्रदेश चुनाव, देश के पांच राज्यों में चुनाव होने जा ऐसे हैं जिसमे सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) है, जहां खुद पीएम मोदी ( PM Modi ) कई चुनावी सभा और चुनावी पैतरों में परियोजनाओं के शिलान्यास कर चुके हैं। लेकिन उसका असर कही दिखाई नही रहा बल्कि उसके नेता बीजेपी ( BJP ) को छोड़ कर जाने वालों की लाइन लगी हुई है वही कांग्रेस भी इस से अछूती नही रही है।

पहले भाजपा और अब कांग्रेस ( Congress ) के विधायक लगातार अखिलेश ( Akhilesh ) खेमें में शामिल होते जा रहे हैं । कांग्रेस के विधायक मसूद अख्तर और इमरान मसूद ( Masood Akhtar and Imran Masood ) समाजवादी पार्टी में शामिल होने जा रहे हैं। दोनों के जाने से कांग्रेस को सीधे तौर पर राजनैतिक नुकसान हो सकता है।

इमरान मसूद के साथ मसूद अख्तर ने छोड़ी कांग्रेस

कांग्रेस ( Congress ) ने बड़ी जिम्मेदारी निभा चुके सहारनपुर से विधायक मसूद अख्तर और इमरान मसूद ( Masood Akhtar and Imran Masood ) ने समर्थकों और आपसी बैठक कर फैसला किया, कि वे कांग्रेस छोड़ जल्द सपा में शामिल होंगे जो कांग्रेस को राजनैतिक नुकसान दे सकता है। मसूद अख्तर का कहना है की वे कांग्रेस और समाजवादी का गठबंधन चाहते थे। जिसे पार्टी ने सिरे से खारिज़ कर दिया।

बड़ी रैली में शामिल हो कर एंट्री करने अखिलेश खेमें में

कांग्रेसी विधायक मसूद अख्तर ( Masood Akhtar ) के एसपी ( SP ) में जाने की चर्चा काफी पहले से ही थ, सोमवार को जैसे ही उन्होंने कांग्रेस ( Congress ) छोड़ने का ऐलान किया वैसे ही चुनाव माहौल गर्म हो गया। इस से पहले श्याम प्रसाद मौर्य के बीजेपी छोड़ सपा में शामिल होने से माहौल गर्म था। मसूद ने बताया, कि समाजवादी पार्टी ( Samaajwadi party ) में शामिल होने का ऐलान जल्द ही एक बड़ी रैली में अखिलेश यादव के साथ पार्टी की सदस्यता लेंगे ।

 

वही इमरान मसूद मौजूदा समय में कांग्रेस के अंदर राष्ट्रीय सचिव और दिल्ली प्रभारी की जिम्मेदारी संभाल रहे थे । राज्य में एसपी और कांग्रेस के गठबंधन की वकालत भी कर रहे थे। देखा जाए तो इसके लिए ना एसपी और ना ही कांग्रेस पार्टी तैयार थी। हालांकि पिछले दिनों इमरान मसूद ने अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। जिसके बाद अपने समर्थकों से सलाह-मशविरा करके ये फैसला लिया।

एसपी में है दम बीजेपी को हराने का

इमरान मसूद ने सोमवार को अपने सियासी फैसलों के लिए अपने वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई, इस बैठक में सहारनपुर देहात के कांग्रेस विधायक मसूद अख्तर समेत सभी समर्थकों ने इमरान मसूद पर ही कोई भी फैसला लेने का पूर्ण अधिकार छोड़ दिया । जिसके बाद इमरान मसूद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, कि कांग्रेस ने उन्हें बहुत सम्मान दिया, जिसके हम आभारी हैं ।

लेकिन उत्तर प्रदेश में अगर मौजूदा हालात को देखते हुए बीजेपी कोई हरा सकता है तो वह सिर्फ सपा है और इस लिहाज हम एसपी में शामिल हो रहे हैं।

 यह भी पढ़ें :

PUBG LOVE : अजब प्रेम की गज़ब कहानी, PUBG खेलते हुआ प्यार , लड़की ने उठाया दिल फैंक कदम

Covid Case Update फिर बड़ा उछाल, 1.94 लाख से ज्यादा नए केस, ऐक्टिव पहली बार 9 लाख पार

 

SHARE