Uttar Pradesh : उत्तर प्रदेश

Prayagraj ,प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के उच्चतर शिक्षा आयोग ने अपनी वेबसाइट से मशहूर शायर और साहित्यकार अकबर इलाहाबादी Akbar allahabadi का नाम बदल कर उनके नाम के आगे “प्रयागराज़ी” ( Prayagraji ) लिख दिया है. इसको लेकर हंगामा मच गया है तो वही आयोग ( Commission ) ने इससे अपना पल्ला झाड़ लिया है। इतना ही नहीं 2 अन्य शायर ” तेग इलाहाबादी” ओर “राशिद इलाहबादी” के आगे भी “प्रयागराज़ी” जोड़ दिया गया है।

योगी सरकार का नाम बदलने पर जोर

साल 2017 में आई उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने शहरों और ऐतिहासिक स्थानों के नाम बदलने की जब से रीति शुरू की है तब से सरकार विवादों में रही है. योगी सरकार के कदमों पर चलते हुए उच्चतर शिक्षा आयोग की वेबसाइट पर ” अकबर प्रयागराज़ी,” तेग प्रयागराज़ी ” ओर “राशिद प्रयागराज़ी ” का नाम लिखने से काफी हंगामा खड़ा हो गया हैं। वेबसाइट पर “इलाहाबादी” की जगह “प्रयागराज़ी” होने पर आयोग ने किनारा कर लिया है

साहित्यकारों के नाम बदले से आयोग ने किया किनारा

उत्तर प्रदेश में मशहूर साहित्यकारों के नाम बदलने पर आयोग के अध्यक्ष ईश्वर शरण विश्वकर्मा ने बयान देते हुए कहा कि, आयोग की वेबसाइट हैक कर ली गई थी जिसकी वजह से ये सब हुआ। वेबसाइट पर एक दिन के नाम के बदलाव के बाद आयोग ने नाम को वापस “इलाहाबादी” कर दिया है।

साहित्यकारों ने बताया “मूर्खतापूर्ण” कदम

उच्चतर शिक्षा आयोग की वेबसाइट पर हुए बदलाव से देश भर के साहित्यकारों में रोष है। मशहूर कथाकार राजेंद्र कुमार ने “अकबर इलाहाबादी” का नाम वेबसाइट पर बदलने के लिए शिक्षा आयोग को आड़े हाथ लिया और इस कदम को मूर्खतापूर्ण कदम बताया।

साइबर सेल में केस हुआ दर्ज

शिक्षा आयोग की वेबसाइट से मशहूर शायरों का नाम बदलने से मचे हड़कंप के बीच साइबर सेल ने केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल घटना की जांच की जा रही है

 

यह भी पढ़ें :-

Amit Shah in Gujrat : अमित शाह अपने संसदीय क्षेत्र को देंगे 49 करोड़ की सौगात

Omicron देश में संक्रमितों का आंकड़ा 717 पहुंचा

 

SHARE