July 15, 2024
  • होम
  • उदयपुर: कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़, हत्यारों को फांसी देने की मांग

उदयपुर: कन्हैयालाल के अंतिम संस्कार में उमड़ी भीड़, हत्यारों को फांसी देने की मांग

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : June 29, 2022, 2:10 pm IST

उदयपुर हत्याकांड:

जयपुर। राजस्थान के उदयपुर में मंगलवार दो मुस्लिम युवकों ने पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने को लेकर एक हिंदू दर्जी की धारदार हथियार से हत्या कर दी। इस निर्मम हत्याकांड ने पूरे देश को दहला कर रख दिया है। इसी बीच आज मृतक दर्जी कन्हैयालाल का उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

हत्यारों को फांसी की मांग

बता दें कि इस बर्बर हत्याकांड के बाद से पूरे राजस्थान में लोगों के बीच काफी आक्रोश देखने को मिल रहा है। आज जब मृतक कन्हैयालाल का शव पोस्टमार्टम के बाद उनके घर पहुंचा तब वहां लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। इस दौरान लोग कन्हैयालाल अमर रहे और हत्यारों को फांसी दो के नारेबाजी करते दिखे।

कौन हैं कन्हैया लाल के हत्यारे?

बता दें कि कन्हैया लाल की बेरहमी से हत्या करने वाले दोनों आरोपी की पहचान हो चुकी हैं। दोनों की पहचान उदयपुर के सूरजपोल क्षेत्र के निवासी गौस मोहम्मद, बेटे रफीक मोहम्मद और अब्दुल जब्बार के बेटे रियाज के रूप में की गई है। राजसमंद पुलिस अधीक्षक सुधीर चौधरी ने बताया कि, आरोपियों की पहचान की पुष्टि हो गई है।

आतंकी घटनाओं में शामिल होने का शक!

गौरतलब है कि दर्जी कन्हैया की हत्या करने वाले आरोपियों ने जुर्म को स्वीकार करते हुए वीडियो पोस्ट किया था। इन दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. जिनमें से एक की पहचान रियाज अख्तरी के रूप में की गई। अख्तरी का संबंध पाकिस्तान स्थित दावत-ए-इस्लामी से बताया जा रहा है। इस संगठन की भारत में भी ब्रांच हैं। दावत-ए-इस्लामी के कुछ मेंबर 2011 में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गवर्नर सलमान तासीर की हत्या समेत कई आतंकी घटनाओं में शामिल थे। आशंका जताई जा रही है कि हमलावरों के ISIS से संबंध हो सकते हैं। पुलिस के मुताबिक दोनों आरोपियों को राजसमंद जिले के भीम क्षेत्र से दबोचा गया।

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन