New Delhi : नई दिल्ली

Delhi,दिल्ली की संसद ( Parliament )  के बाद देश की सर्वोच्च न्यायालय सुप्रीम कोर्ट ( supreme court )  में भी कॉरोना बम फूट पड़ा जब सुप्रीम कोर्ट के चार जज कोरोना वायरस में पॉजिटिव पाए गए । इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट में दो जज कोरोना पॉजिटिव पाए गए। वही रजिस्ट्री के करीब 150 कर्मचारी भी या तो पॉजिटिव हैं, या फिर आइसोलेशन हो चुके हैं। इससे पहले संसद के करीब 400 कर्मचारी-सुरक्षाकर्मी भी कोरोना संक्रमित ही चुके हैं।

सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई सात जनवरी से वर्चुअल मोड़ पर

दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट ( supreme court ) ने सात जनवरी से पूरी तरह से वर्चुअल मोड पर सुनवाई करने का फैसला किया । दिल्ली के सुप्रीम कोर्ट के सभी न्यायाधीशों को अपने आवासीय कार्यालयों से काम करने का फैसला किया । सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को एक सर्कुलर के माध्यम से कहा था कि 10 जनवरी से केवल बहुत जरूरी मामलों, फ्रेश मैटर, बेल मैटर्स, डिटेंशन और तय तारीख के केस पंक्तिबद्ध और सूचीबद्ध किए जा सकते हैं।

संसद भवन में 400 से ज्यादा कर्मचारी कोरोना संक्रमित

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण (Covid-19) से हड़कंप मच गया । संसद भवन में काम करने वाले 400 से ज्यादा स्टाफ को कोरोना हो गया गया। 6 और 7 जनवरी को संसद में काम करने वाले स्टॉफ, सुरक्षाकर्मियों का कोविड टेस्ट हुआ । जिसके बाद सूत्रों के मुताबिक संक्रमितों की संख्या बढ़ गई। सभी स्टाफ का रैंडम टेस्ट कराया गया । पॉजिटिव आने वाले स्टाफ का अनुपात 1:1 का हो गया है। यानी हर दूसरा स्टाफ कोरोना से संक्रमित हो गया ।

बताते चलें, कि देश के दिल कहे जाने वाली दिल्ली में कोरोना के हालात लगातार बिगड़ रहे हैं। शन‍िवार को कोरोना संक्रम‍ित मरीजों की संख्या 20,181 रही तो वहीं मृत्यु दर का स‍िलसि‍ला भी लगातार घट रहा है। अभी तक प‍िछले 24 घंटे में 7 मरीजों की जान भी कोरोना की वजह से गई है । दिल्ली में कोरोना की संक्रम‍ण दर फिलहाल 19.60 % फीसदी हो गई । DDMA के एक आदेश ने सभी सरकारी कार्यालयों को कर्मचारियों की क्षमता को 50 प्रतिशत तक सीमित करने का निर्देश दिए हैं और कहा, कि बाकी घर से काम करेंगे । केंद्र सरकार ने कोविड-19 के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को गंभीरता से लेते हुए अपने कर्मचारियों को बायोमेट्रिक से भी छूट दी ।

दिल्ली में कॉरोना की संक्रम‍ण दर 19.60 %

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शनिवार को कहा, कि इस बार अस्पताल में कम संख्या में मरीज भर्ती हो रहे हैं जिसके बाद संक्रमण की गंभीरता भी कम हो गई है। मंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामले इसलिए अधिक सामने आ रहे हैं, क्योंकि राष्ट्रीय राजधानी में पहले से जांच ज्यादा हो रही है। स्वास्थ मंत्री ने कहा,‘प्रतिदिन लगभग एक लाख जांच की जा रही है. इसलिए मामलों की संख्या जांच के अनुपात में है.’संक्रम‍ण दर 19.60 % हो गई है.

प्रदेश में लगातार बढ़ रहे हैं केस

पिछले 24 घंटे के दौरान देश में 1.59 लाख से अधिक नए केस आ चुके हैं। रविवार को जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 1,59,632 नए केस दर्ज किए गए हैं। इसी दौरान 327 लोगों की मौत भी हो चुकी है। वहीं अब देश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्‍या बढ़कर 5,90,611 हो चुकी है। प्रदेश में प्रतिदिन पॉजिटिविटी दर 10.21 फीसदी है। कोरोना का साया अब देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों के होने बाद वहां तक भी पहुंच चुका है।

यह भी पढ़ें :-

Corona : हरियाणा डिप्टी सीएम चौटाला शोकसभा के बाद हुए कॉरोना पॉजिटिव, साथ में वरिष्ठ नेता और बंगाल गवर्नर धनकड़ थे मोजूद

Infiltration into India तटरक्षकों ने यासीन में सवार 10 पाकिस्तानियों को दबोचा

 

SHARE