July 21, 2024
  • होम
  • जेएनयू में बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री दिखाने पर हुआ पथराव, पुलिस ने एफआईआर की दर्ज

जेएनयू में बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री दिखाने पर हुआ पथराव, पुलिस ने एफआईआर की दर्ज

  • WRITTEN BY: Vikas Rana
  • LAST UPDATED : January 25, 2023, 7:36 am IST

नई दिल्ली। बीबीसी की विवादित डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग को लेकर अक्सर विवादों में रहने वाली जेएनयू विश्वविद्यालय में बवाल हो गया। इस बार प्रशासन की रोक के बाद भी मंगलवार की देर शाम वामपंथी छात्रों के एक गुट ने मोबाइल पर सरकार द्वारा प्रतिबंधित ‘इंडिया- द मोदी क्वेश्चन’ डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग करने का आयोजन किया। इसी दौरान छात्रों ने एबीवीपी द्वारा उन पर पथराव करने का आरोप लगाया है। छात्रों का कहना है कि, उनके ऊपर एबीवीपी के एक गुट ने डॉक्यूमेंट्री देखने के दौरान पत्थरों से पथराव कर दिया, जिसके बाद छात्रों द्वारा वसंत कुंज थाने के बाहर रात भर प्रदर्शन किया गया।

क्या है पूरा मामला ?

केंद्र सरकार ने बीबीसी द्वारा प्रसारित  ‘इंडिया- द मोदी क्वेश्चन’ नाम की विवादित डॉक्यूमेंटी को बैन किए जाने के बाद भी जेएनयू की इजाजत के बिना कैंपस में कुछ वामपंथी छात्रों के एक गुट ने मोबाइल के जरिए डॉक्यूमेंटी की स्क्रीनिंग करने का आयोजन किया था। छात्रों ने रात नौ बजे स्टूडेंट एक्टिविटी सेंटर के लोन में डॉक्यूमेंट्री देखने की बात कहीं थी, लेकिन रात 7 बजे अचानक तकनीकी खामी के कारण पूरे कैंपस की बिजली गुल हो गई।
इसके बाद छात्रों ने नौ बजे मोबाइल पर एक-दूसरे को लिंक साझा करते हुए मोबाइल टॉर्च की रोशनी में लैपटॉप व मोबाइल पर डॉक्यूमेंट्री देखने लगे। इसी दौरान छात्रों का आरोप है कि अंधेरे में उन पर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने चेहरा ढक कर पथराव किया था। इनमें से दो छात्रों को उन्होंने पकड़ भी लिया है।

जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष आयशी घोष ने क्या कहा ?

मामले पर जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष आयशी घोष का कहना है कि, एबीवीपी के लोगों ने स्क्रीनिंग के दौरान हम लोगों पर पथराव किया लेकिन अभी तक प्रशासन की ओर से पथराव करने वाले लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई हैं। पथराव करने वाले लोगों के खिलाफ हम लोगों ने एफआईआर दर्ज करा दी है। पुलिस ने जल्द आरोपियों पर कार्रवाई करने की बात की है।
वही इस मामले पर एबीवीपी से जुड़े छात्र गौरव कुमार ने कहा कि, हम लोगों पर लगाए गए आरोप गलत है क्या इन लोगों के पास हमारे खिलाफ कोई सबूत है ? हमने कोई पथराव नहीं किया है। फिलहाल जेएनयू अध्यक्ष की मांग पर दिल्ली पुलिस ने शिकायत दर्ज कर ली है। मामले की छानबीन करने के बाद जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन