Entertainment :-

” दया दरवाज़ा तोड़ ” फेम सोनी चैनल के टीवी शो CID में एसीपी प्रद्युमन की भूमिका निभा रहे शिवाजी साटम ( Shivaji Satam ) अब CID छोड़ नए किरदार में अच्छी भूमिका निभाना चाहते हैं लेकिन उन्हें कही काम नहीं मिल रहा। बताते चलें कि 20 साल शिवाजी एक ही किरदार में काम कर रहे हैं। जिस से उबाऊ हो चुके हैं।

” दया कुछ तो गड़बड़ है ” होना चाहते हैं रिटायर

लोगों के दिल और दिमाग़ पर राज़ करने वाला सोनी चैनल टीवी शो CID के डायलॉग हर किसी की ज़ुबां पर हैं, ” दया कुछ तो गढ़बड़ है ”

 

” दया दरवाज़ा तोड़ ” जैसे देश देश ही नहीं दुनिया भर में बच्चे से लेकर बुजुर्ग की ज़ुबां पर है। जिसे अजय देवगन ने अपनी फ़िल्म सिंघम 2 में भी इस्तेमाल किया,।

अच्छे किरदार नहीं लिखे जाते

ACP प्रद्युमन की माने तो 20 साल से लगातार एक ही सीरियल में काम करते हुए वो भी थक गए हैं और कुछ नया करना चाहते हैं। उन्होंने कहा की अब कोई अच्छे किरदार नहीं लिख रहा है । शिवाजी साटम को अच्छे किरदार और अच्छे लेखक का आज भी इंतजार है।

मराठी थियेटर से ज़िंदगी की शुरआत

ACP प्रद्युमन उर्फ शिवाजी साटम मराठी थियेटर से निकल कर आए हैं। उन्होंने फिल्म ” हसीन दिलरुबा ” में काम किया जिसमे तापसी पन्नू ने अभिनय किया था।

कोरोना की वजह से काम छूटा

कोरोना काल ऐसा काल रहा है दुनिया भर में जहां अच्छे अच्छे आसमान से जमीन की तरफ आ गए हैं। ऐसे में सोनी टीवी शो CID फेम ACP प्रद्युमन भी खाली बैठे हैं और काम की तलाश है उन्हे। उन्होंने बताया की अच्छे किरदार को पाना और 20 साल से एक सीरियल में काम करना दोनो मुश्किल काम है।

यह भी पढ़ें :-

Bigg Boss 15 : करण और तेजस्वी के रिश्ते को मिली घरवालों से हरी झंडी, तेजस्वी को लेकर उमर रियाज़ की अलग सोच

Current Weather Report पश्चिमी विक्षोभ फिर एक्टिव, कोल्ड स्थिति बने रहने के आसार

 

SHARE