Maharashtra : महाराष्ट्र

Sanjay raut, शिवसेना सांसद संजय राउत ( Sanjay Raut ) एक बार फिर चर्चा में हैं उन्होंने शिवसेना के मुख्यपत्र “सामना” में अपने लेख “रोख ठोक” में प्रधानमंत्री प्रधान सेवक का मज़ाक उड़ाते हुए तंज किया है। उन्होंने अपने लेख में पीएम मोदी की विदेशी निर्मित 12 करोड़ रूपए की मर्सिडीज कार को लेकर लिखा, कि, पीएम नरेंद्र मोदी और उनकी भाजपा पार्टी को नाइट कर्फ्यू, पेट्रोल-डीजल की कीमतें,बेरोजगारी, महंगाई, दिखाई नहीं देती। बस उन्हें तो अपनी चुनावी राजनीति से फुर्सत ही नही है।

संजय राउत ने किए भाजपा और मोदी से सवाल

देश के कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में शिव सेना सांसद संजय राउत ने अपने लेख “रोख ठोक” में भाजपा और पीएम मोदी से सवाल कर आड़े हाथ लिया। उन्होंने सवाल करते हुए पूछा, कि, क्या saal 2021 खत्म हो गया है और 2022 शुरू हो चुका है लेकिन क्या देश में बढ़ती मंहगाई और बेरोज़गारी के साथ साथ बीमारियों पर लगाम लगा कर कोई आशा या उम्मीद की किरण नज़र आयेगी या नहीं? उन्होंने पीएम मोदी की 12 करोड़ की कार पर भी चुटकियां लीं।

खुद को “Forgien model” ( विदेशी ), सब को “Make in India”

संजय राउत ने अपने लेख “रोख ठोक” में पीएम मोदी
को आड़े हाथ लेते हुए कहा है, कि जो नेता खुद को फकीर बताते है साथ ही अपने आप को प्रधान सेवक होने का दावा करते है उन्हे देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरू से हमेशा प्रेरणा लेनी चाहिए क्योंकि उन्होंने हमेशा स्वदेश निर्मित “एंबेसडर कार” को इस्तेमाल किया है। ना कि विदेशों से निर्मित 12 करोड़ की मर्सिडीज कार, उन्होंने कहा कि,पीएम की सुरक्षा और आराम जरूरी है। लेकिन ऐसा आराम भी किसी काम का नही जहां इंसान खुद को फकीर होने का दावा करता है वो भी प्रधान सेवक के तौर पर। उन्होंने पीएम मोदी पर तंज करते हुए कहा कि, स्टार्ट अप इंडिया हो या मेक इन इंडिया, आदि उपक्रम शुरू तो सरकार ने कर दिए लेकिन सरकार और उनका प्रधान सेवक विदेश निर्मित वाहनों का उपयोग करते हैं।

 

कभी गांधी, नेहरू, इंदिरा की भी पीएम मोदी जैसी सुरक्षा नही रही

पीएम मोदी की 12 करोड़ की बुलेट प्रूफ कार पर तंज करते हुए कहा,कि,बुलेट या बम प्रूफ कार का होना जरूरी है, लेकिन क्या देश के विभाजन के बाद नेहरू, महात्मा गांधी या इंदिरा गांधी ने बेखौफ होकर खूनी हमले का सामना नही किया। उन्होंने अपनी जान को खतरा में डाल कर देश की सेवा की ऐसे ढोंग नही किया। यही नही उन्होंने खतरों के बावजूद अपनी सुरक्षा व्यवस्था में अंगरक्षकों को नहीं बदला। ओर ये सबक हम इंदिरा जी और राजीव जी से ले सकते है जिन्होने अपनी सुरक्षा में सिख या तमिल सुरक्षाकर्मियों को सुरक्षा के लिए नही रोका, प्रधानमंत्री मोदी के लिए 12 करोड़ की बुलेटप्रूफ, बमप्रूफ कार अहम है देश अहम नही।

‘पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से जनता परेशान, जनता को उपदेशों का डोज, खुद सैर-सपाटा रोज़

शिवसेना सांसद राउत अपने लेख में आगे लिखते हैं कि, ‘पेट्रोल और डीजल के दाम इतने ऊपर हैं कि उनसे जनता परेशान हो चुकी हैं। उन्हें कम करना तो दूर
सारे नेता सैर सपाटे में लगे हुए हैं। अपनी गलतियों को नेहरू जी की नीतियों पर थोपना और उन पर बार अपनी नाकामियों का ठीकरा फोड़ कर मोदी सरकार 12 करोड़ रुपए की लाई नई मर्सिडीज बेंज कार में सफर करेगी। पीएम मोदी के समाचारों पर चनीलों को आड़े हाथ लेते हुए कहा, कि, समाचार चैनलों पर रोज उनका दर्शन करो कहां हैं वो प्रतिदिन और उनके घूमने फिरने का दिखाई लेकिन उन पर कितना समय और पेट्रोल खर्च हो रहा है जिस से देश के नुकसान हो रहा है ये कौन दिखायेगा?

यह भी पढ़ें :

PM Modi : पीएम मोदी पहुंचे ध्यानचंद खेल यूनिवर्सिटी शिलान्यास के लिए मेरठ, सीएम योगी के साथ की औघड़नाथ मंदिर में पूजा

What Are The Precautions To Be Taken While Eating And Drinking पूर्ण स्वास्थ्य के लिये खाने-पीने में रखे कुछ सावधानियां

 

SHARE