जयपुर. REET Result 2021 राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा परिणाम (REET Result 2021) जारी हो गया है. रीट एग्जाम का रिजल्ट सिर्फ 36 दिनों में जारी कर सरकार वाहवही लूट रही है. सीएम अशोक गहलोत और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने सफल न होने वालों से अगली परीक्षा की तैयारी करने को कहा है लेकिन लेकिन जल्दीबाजी में परिणाम जारी करने को लेकर सवाल पूछे जा रहे हैं और विवाद बढ़ता जा रहा है.

इस मामले को लेकर दो याचिकाएं हाईकोर्ट में लंबित है जिसे भागचन्द शर्मा और मधु कुमारी नागर ने दायर की है, इस पर 10 और 11 नवंबर को सुनवाई होनी है. याचिकाकर्ताओं का कहना है कि अब वे हाईकोर्ट में भर्ती रुकवाने की मांग करेंगे क्योंकि घपले को छिपाने के लिए सरकार ने जल्दीबाजी में परिणाम को जारी कराया. 26 सिंतंबर को हुई रीट परीक्षा के पेपर लीक की जांच SOG कर रही है, केंद्रीय एजेंसी से जांच कराने के लिए High Court में याचिका पेंडिंग है फिर 36 दिनों में रिजल्ट क्यों जारी किया गया?

महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने किया ट्वीट

उधर राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने ट्वीट कर कहा है कि रीट का परिणाम करीब 1 महीने में ही जारी कर दिया गया. प्रयोगशाला सहायक भर्ती 2018, पंचायतीराज एलडीसी सहित कई भर्तियों के परिणाम सालों से पेंडिंग चल रहे हैं उसका रिजल्ट क्यों नहीं जारी किया गया.

सरकार को CBI का इतना डर था तो कम से कम पेपर लीक के मुख्य आरोपी भजनलाल को पकड़ती और रीट का पेपर खरीदने वाले अभ्यर्थियों को बाहर किया जाता, पदों की संख्या बढ़ाई जाती, तब लगता कि न्याय करने की कोशिश हो रही है लेकिन ऐसा न कर जल्दी रिजल्ट जारी कर दिया गया. उनके बारे में सोचा ही नहीं गया जो इस धांधलेबाजी का शिकार हुए. बीजेपी सांसद डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने भी कहा है कि रीट भर्ती परीक्षा-2021 में बड़ा घपला हुआ है, पेपर लीक में सरकार की मिलीभगत है लिहाजा जल्दबाजी में रिजल्ट जारी कर उसे छिपाने की कोशिश की जा रही है.

यह भी पढ़े:

COP26 Summit: भारत के 5 सूत्रीय एजेंडे के बाद दुनिया ने मीथेन, वनों की कटाई में कटौती करने का लिया संकल्प

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर