उत्तर प्रदेश : Uttar Pradesh

Kanpur :  पीएम नरेंद्र मोदी के कानपुर दौरे से पूर्व नौबस्ता Naubasta कार्यक्रम स्थल पर की गई तोड़फोड़ एवं माहौल को खराब करने को लकेर सपा ने सख्त रुख अख्तियार किया है और पार्टी के पांच नेताओं को निकाल दिया ( Expelled Five workers )  है. नौबस्ता ( कानपुर ) पुलिस ने कल समाजवादी पार्टी ( Samajwadi party member ) के 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया था. इसके बाद पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) के आदेश पर प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने सभी सदस्यों को पार्टी से निष्कासित कर दिया है ।

कानपुर पुलिस आयुक्त ने किया ट्वीट

पीएम मोदी के नौबस्ता कार्यक्रम स्थल में हुई तोड़फोड़ के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने ट्वीट करके पूरी घटना की जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, कि, मंगलवार को पीएम मोदी जी के कार्यकम में खलल डालने और माहौल बिगाड़ने के प्रयास में समाजवादी पार्टी के 5 सदस्यों को चिन्हित करके गिरफ्तार किया गया है। बताते चले कि, तोड़फोड़ एक कार पर की गई थी जो अंकुर पटेल की थी और अंकुर पटेल वर्ष 2019-20 में नौबस्ता जिले का पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का सचिव रहा है।

पुलिस आयुक्त ने लिखा कि, कार ना. Up-85 AK 6774 पर तोड़फोड़ से संबंधित निशान पाए गए। जिस पर भाजपा का बैनर लगा हुआ था । जिन पर धारा 1153/21, U/S 147,336,148,34,153A or 120B के साथ साथ 7 CLA कार्रवाई की गई है।

गिरफ्तार किए गए सदस्य समाजवादी के पदाधिकारी

पुलिस आयुक्त ने जिन्हे गिरफ्तार किया था सभी सद्स्य समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी रह चुके हैं। इनमे सचिन केशरवानी छात्र सभा का क्षत्रिय मंत्री है तो मुलायम सिंह यादव यूथ ब्रिगेड से संबंधित शुकांत शर्मा पूर्व नगर प्रवक्ता तो अभिषेक रावत नगर सचिव रहा है। इसके अलावा निकेश कुमार युवजन सभा का पूर्व जिला मंत्री रहा है।

पार्टी में सुशील राजपूत और अंकेश यादव के निष्कासन पर उठे सवाल

नौबस्ता कार्यक्रम पर हुए तोड़ फोड़ को संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी प्रमुख अखिलेश यादव ने जिन 5 सदस्यों का निष्कासन किया उसमे अंकुश यादव और सुशील राजपूत के नाम होने से पार्टी में हंगामा मच गया है ऐसा इसलिए क्योंकि पुलिस कार्रवाई में गिरफ्तार लोगों में दोनों का नाम ही नहीं है.

इरफान सोलंकी ने भाजपा को लिया आड़े हाथ

सिसामऊ से समाजवादी पार्टी विधायक इरफान सोलंकी ने पीएम मोदी के कार्यक्रम से पूर्व हुई तोड़फोड़ को निंदनीय बताया तो वही भाजपा को आड़े हाथ लेते कहा की सपा ने तो सामाजिक कार्रवाई कर दी है लेकिन भाजपा ने अभी तक गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा पर और उनके बेटे पर अभी तक कार्रवाई क्यों नही की?

यह भी पढ़ें :-

Jhansi Railway now Laxmibai : उत्तर प्रदेश में नामकरण जारी, झांसी रेलवे स्टेशन का नाम हुआ वीरांगना लक्ष्मीबाई

Defence Ministry Decision 351 रक्षा उपकरणों का आयात बैन किया

 

SHARE