मध्य प्रदेश. राजधानी भोपाल Bhopal में गेम की लत के कारण एक बच्चे की आत्महत्या Suicide का सनसनीखेज मामला सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबकि पांचवीं क्लास में पढ़ने वाले एक 11 वर्षीय छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। अपने इकलौते बेटे की मौत के बाद परिजन सदमे में हैं। उन्होंने रोते हुए बताया कि बच्चे को मोबाइल में फ्री फायर गेम खेलने का बेहद शौक था।

गेम ने ली सूर्यांश की जान

पेरेंट्स ने पुलिस को बताया कि उनका बेटा सूर्यांश सेंट जेवियर स्कूल अवधपुरी में पांचवीं क्लास में पड़ता था। वह मोबाइल और टीवी पर गेम खेलने का दीवाना था। विशेषकर फ्री फायर गेम free fire game का उस पर जुनून सवार था। उसने हाल ही में गेम फाइटर की तरह एक ड्रेस भी खरीदी थी। पैरेंट्स के लाख समझाने के बावजूद वह चोरी-छिपे या अपने दादाजी का फोन लेकर गेम खेलने लगता था। बुधवार की दोपहर सूर्यांश अपने चचेरे भाई आयुष के साथ घर की दूसरी मंजिल पर बने कमरें में टीवी देख रहा था। इसी बीच आयुष किसी काम से नीचे आ गया। थोड़ी देर बाद जब दूसरे बच्चे उपर गए तो सूर्यांश रस्सी के फंदे में झूलता हुआ मिला। उसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया लेकिन सूर्यांश रास्ते में ही दम तोड़ चुका था।

जांच में जुटी पुलिस

पुलिस ने सूर्यांश के माता-पिता के बयान दर्ज कर लिए हैं। पुलिस सूर्यांश के मोबाइल की भी जांच करेगी ताकि  पता चल सके कि कहीं उसे गेम में कोई टारगेट तो नहीं दिया गया था। सूर्यांश के पिता योगेश शंकराचार्य नगर बजरिया में रहते हैं और ओझा ऑप्टिकल नाम से दुकान चलाते हैं।

पहले भी किया था सुसाइड का प्रयास

पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि सूर्यांश पहले भी एक दफा सुसाइड करने का प्रयास कर चुका है। करीब 3 महीने पहले वह फांसी लगाने की तैयारी कर रहा था, लेकिन उसकी मम्मी ने उसे बचा लिया गया था। इस हरकत पर सूर्यांश को काफी डांट भी लगाई गई थी।

यह भी पढ़ें :

Bihar: नीतीश सरकार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, अदालत ने शराबबंदी कानून को कहा बोझ

lightning struck : आकाशीय बिजली, वाराणसी में छत पर फोन से बात कर रहे युवक पर गिरी बिजली

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर