Lucknow, Uttar Pradesh: लखनऊ की थप्पड़बाज़ लड़की के 22 थप्पड़ों की गूँज अभी भी लोगों को सुनाई दे रही है. इस थप्पड़कांड को अब तक 22 दिन भी नहीं हुए की प्रियदर्शनी के अलग-अलग रंग देखने को मिल रहे हैं. कभी वो कैब ड्राइवर पर छेड़छाड़ का आरोप लगाती हैं तो कभी खुद को मानसिक रूप से बीमार बताती हैं.

प्रियदर्शनी ने दिया कैब ड्राइवर को रक्षाबंधन का न्योता

लखनऊ के थप्पड़कांड की गूँज अभी भी शांत नहीं हुई है, अब भी थप्पड़बाज़ लड़की प्रियदर्शनी और सआदत अली का नाम लोगों के जेहन में है. हाल ही में प्रियदर्शनी ने कैब ड्राइवर सआदत अली को राखी बाँधने की बात कही. उनका कहना है कि , “सआदत अगर घर आएगा तो मैं उसका स्वागत करुंगी और उसे रक्षा सूत्र बांधकर एक नए रिश्ते की शुरुआत करूंगी. सब बातों को हटाकर मैं उसकी रक्षा करूंगी.” इसपर सआदत अली ने कहा है कि, “जिस तरीके से उन्होंने (प्रियदर्शिनी) ने मेरी आरती उतारी है, उस लिहाज से वे किसी की बहन नहीं हो सकती हैं. मैं उनको अपनी बहन नहीं बनाऊंगा. मैं अपना केस लड़ लूंगा.”

बता दें कि प्रियदर्शनी ने सआदत अली पर उन्हें गाडी से मारने के आरोप लगाए थे जबकि सआदत अली ने प्रियदर्शनी पर मारपीट, गाली-गलौज, जान से मारने की धमकी और तोड़फोड़ करने का मामला दर्ज करवाया था. 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर