नई दिल्ली. देश के प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में नई कुलपति की नियुक्ति की गई है।  प्रोफेसर शांतिश्री धुलिपुड़ी पंडित Santishree Dhulipudi Pandit को जेएनयू में वीसी पद का कार्यभार सौंपा गया है। बता दें कि धुलिपुड़ी इससे पहले पुणे स्थित सावित्री बाई फुले पुणे यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत थीं। जेएनयू में इनका कार्यकाल अगले पांच साल तक रहेगा।

जेएनयू की पहली महिला कुलपति

ऐसा पहली बार है, जब जेएनयू में किसी महिला को कुलपति बनाया गया है। अभी तक विश्वविद्यालय में 12 कुलपति पुरुष ही रहे हैं। प्रोफेसर धुलिपुड़ी द्वारा वीसी पद का कार्यभार संभालने से पहले एम जगदीश कुमार JNU के कुलपति थे। अभी दो दिन पहले ही उन्हें UGC का चेयरमैन बनाया गया है। बात करें प्रोफेसर धुलिपुड़ी की तो उन्होंने साल 1988 में गोवा यूनिवर्सिटी से अध्यापन करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वे साल 1993 में पुणे यूनिवर्सिटी में पढ़ाने लगीं। प्रोफेसर धुलिपुड़ी  ने JNU से फिलॉसफी में मास्टर्स और पीएचडी की डिग्री हासिल की है।

सुर्खियों में रहे थे एम जगदीश कुमार

गौरतलब है कि पिछले साल ही, जेएनयू के कुलपति के तौर पर एम जगदीश कुमार का कार्यकाल पूरा हो चुका था। किंतु वह अभी तक कार्यवाहक कुलपति के तौर पर इस जिम्मेदारी को निभा रहे थे। एम जगदीश कुमार ने साल 2016 में जेएनयू के कुलपति का कार्यभार संभाला था। इस दौरान अपने कुछ फैसलों के कारण वह लगातार सुर्खियों में रहे। विशेषकर साल 2019 में जेएनयू हॉस्टल की बढ़ाई गई फीस को लेकर उन्हें स्टूडेंट्स का भारी विरोध झेलना पड़ा था। स्टूडेंट्स की शिकायत थी कि वीसी ने इस मामले में उनसे बात तक नहीं की थी।

यह भी पढ़ें:

WBHFWS Recruitment 2022: कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर के पदों पर भर्तियां, जल्द करें अप्लाई, आखिरी तारीख कल 

Google Chrome New Logo 8 साल बाद कंपनी ने फिर बदला लोगो, जानिए इसके पीछे का कारण

 

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर