अफगानिस्तान के उत्तरी कुंदुज प्रांत में शुक्रवार को शिया मुस्लिमों को निशाना बनाकर सैयद अबाद मस्जिद में किये गये आत्मघाती विस्फोट में मरने वाले लोगों की संख्या 100 के पार चली गई है और इसकी जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट खुरासान-ISIS-K ने ली है. इससे पहले रविवार को काबुल की ईदगाह मस्जिद में हुए विस्फोट में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई थी और 32 अन्य घायल हो गए थे. 26 अगस्त को ISIS K ने काबुल एयरपोर्ट पर ऐसा ही आत्मघाती हमला किया था जिसमें 200 से ज्यादा लोग मारे गये थे और 1500 से ज्यादा घायल हुए थे.
इस्लामिक स्टेट खुरासान ने इस हमले की जिम्मेदारी लेने के लिए दो स्टेटमेंट जारी किये हैं और बताया है कि हमलावर उइगर था और कहा है कि हमले में शियाओं और तालिबान दोनों को निशाना बनाया गया जो कि चीन से उइगरों की मांगों को पूरा करने में बाधा बन रहे हैं. इस घटना को लेकर चीन परेशान हो गया है क्योंकि वो पाकिस्तान की मार्फत अफगानिस्तान और वहां की सरकार तालिबान को साधने में लगा था लेकिन ISIS K ने एक के बाद एक हमलों को अंजाम देकर उसकी नींद उड़ा दी है