Imran Khan Arrest: इमरान की गिरफ्तारी गैरकानूनी… सुप्रीम कोर्ट ने पाक आर्मी के खिलाफ सुनाया फैसला

नई दिल्ली: पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में पिछले तीन दिनों से बवाल जारी है जहां पूर्व प्रधानमंत्री और PTI अध्यक्ष इमरान खान की गिरफ्तारी मामले में अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया है. ,गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने इमरान खान की गिरफ्तारी को गैरकानूनी बताया है. बता दें, बीते मंगलवार पूर्व पीएम इमरान खान को इस्लामाबाद हाई कोर्ट से पाक रेंजर्स ने गिरफ्तार किया था ये गिरफ्तारी अल-कादिर ट्रस्ट मामले में की गई थी जिसे लेकर हाई कोर्ट ने पाक आर्मी के पक्ष में फैसला सुनाया था.

 

NAB को परमिशन लेनी चाहिए थी

दरअसल पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की गिरफ्तारी को लेकर अब पाकिस्तानी सेना को बड़ा झटका लगा है. गुरुवार को गिरफ्तारी के दो दिनों बाद सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हुई जिस दौरान शीर्ष अदालत ने इमरान खान की गिरफ्तारी को गैरकानूनी ठहराया है. कोर्ट ने कहा है कि इमरान खान को गिरफ्तार करने से पहले हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार से राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (NAB) को परमिशन लेनी चाहिए थी. लेकिन ऐसा नहीं हुआ इसलिए इमरान खान की गिरफ्तारी गैरकानूनी है.

उठ जाएगा विश्वास

इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि इस्लामाबाद में आपकी अर्जी पर सुनवाई होनी थी, क्या इस तरह से किसी को गिरफ्तार किया जा सकता है? चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्तान ने सुनवाई के दौरान कहा कि NAB ने कानून तोड़कर कोर्ट का अपमान किया है. NAB को कोर्ट देखेगी. दूसरी ओर वहीं, NAB की ओर से दलील दी गई कि यह बहुत ही संवेदनशील मामला है.

शरीफ सरकार को फटकार

सुनवाई के दौरान पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर इसी तरह से गिरफ्तारी होती रही तो लोगों का भरोसा कोर्ट से हट जाएगा. क्योंकि कोर्ट में सबकी रक्षा करना जरूरी है. इस सौरान शीर्ष अदालत शहबाज शरीफ सरकार पर भी सख्त दिखाई दी जहां पाकिस्तान के अटॉर्नी जनरल को बुलाया गया और कहा गया कि हम कोर्ट का सम्मान वापस दिलाएंगे.

गौरतलब है कि पाकिस्तान में इस समय इमरान खान की गिरफ्तारी को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है जहाँ पूरे देश में धारा 144 लगाने की नौबत आ गई है. पाकिस्तानी सेना ने इस दौरान मोर्चा संभाला हुआ है और अब तक एक हजार से अधिक उपद्रवियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. दूसरी ओर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ (PTI) का दावा है कि अब तक पार्टी के 47 कार्यकर्ताओं की मौत हो चुकी है.

 

Latest news