आईएएस पूजा सिंघल:

नई दिल्ली।  झारखंड की खनन सचिव पूजा सिंघल से मंगलवार को ईडी के कार्यालय में करीब 9 घंटे तक पूछताछ की गई। खूंटी में मनरेगा राशि की कथित हेराफेरी से जुड़े धनशोधन मामले एवं अन्य आरोपों की
जांच के सिलसिले में वे अपने पति के संग ईडी कार्यालय पहुँची थी। आईएएस सिंघल को बुधवार को अगले दौर की पूछताछ के लिए फिर से पेश होने को कहा गया है।

बयान दर्ज

ईडी ने धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत वर्ष 2000 बैच की भारतीय प्रशासनिक सेवा आईएएस अधिकारी सिंघल का बयान दर्ज किया। अधिकारियों ने कहा कि सिंघल के व्यवसाई पति अभिषेक जा का भी बयान दर्ज किया गया है। दंपति पूर्वाह्नन करीब 11:00 बजे एयरपोर्ट रोड स्थित हिनू इलाके में प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय पहुंचे और रात करीब 8:00 बजे वहां से निकले। ईडी नोकरशाह, उनके पति उनसे जुड़ी संस्थाओं और अन्य के खिलाफ 6 मई को झारखंड और कुछ अन्य स्थानों पर छापेमारी के बाद पूछताछ की है।

मनी लॉन्ड्रिंग का मामला

आईएस पूजा सिंघल और अन्य के खिलाफ यह मामला धनशोधन से जुड़ा है, जिसमें झारखंड सरकार के पूर्व जूनियर इंजीनियर राम विनोद सिन्हा को ईडी ने 17 जून 2020 को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया था। उससे पहले उसके खिलाफ राज्य सतर्कता ब्यूरो की प्राथमिकी का अध्ययन करने के बाद 2012 में एजेंसी द्वारा पीएमएलए के तहत मामला दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर