Wednesday, February 1, 2023
spot_img

श्रद्धा मर्डर केस ने कैसे सुलझाई अंजन दास हत्याकांड की गुत्थी? जानिए पूरी कहानी

Anjan Das Murder Case:

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में श्रद्धा हत्याकांड जैसा एक और मामला सामने आया है। यह हत्याकांड भी मई-जून महीने से जुड़ा हुआ है। बीते मई महीने में पांडव नगर इलाके के जंगलों में कुछ मानव अंग मिले थे। दिल्ली पुलिस ने मामले छानबीन की लेकिन केस का खुलासा नहीं हो पाया था।

मगर जब श्रद्धा हत्याकांड सामने आया तब दिल्ली पुलिस हरकत में आई। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने अधिकारियों को श्रद्धा केस के साथ ही सभी पुराने मामलों को दोबार चेक करने के लिए कहा।

श्रद्धा हत्याकांड से मिली मदद

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा हत्याकांड के मामले को लेकर मई महीने के बाद से जो भी मामले सामने आए थे उनको जांचना शुरू किया। इसी क्रम में पांडव नगर में मिले मानव अंगों की भी जांच की गई और उनके डीएनए सैंपल लिए गए। श्रद्धा हत्याकांड की कड़ियां इन मानव अंगो से जोड़ रही पुलिस को चौंकाने वाली बात पता चली।

सीसीटीवी फुटेज से हुआ खुलासा

जब पुलिस ने सभी सीसीटीवी फुटेज चेक किए तो पता चला कि पांडव नगर वाले मानव अंगों को जंगल में फेंकने के लिए एक महिला और एक युवक आया करते थे। इसी सीसीटीवी फुटेज से पुलिस ने जब कड़ियां जोड़ी तब जाकर अंजन दास हत्याकांड का खुलासा हुआ।

आरोपी मां-बेटा गिरफ्तार हुआ

इस मामले में पुलिस ने मृतक अंजन दास के हत्या की आरोपी पत्नी पूनम और सौतेले बेटे दीपक गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी महिला ने बताया है कि उसने ही पति अंजन दास की हत्या की थी, क्योंकि वो शराब पीने का आदी था और उसके संबंध कई महिलाओं से थे। इस हत्याकांड को अंजाम देने में पूनम के बेटे ने भी उसका साथ दिया था।

4-5 दिन में लगाया शव ठिकाने

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बताया है कि पत्नी पूनम ने अपने बेटे के साथ मिलकर अंजन दास के शव के कई टुकड़े किए थे। उसके बाद शव को फ्रिज में रखा था ताकि उसमें से कोई बदबू ना आए। फिर 4 से 5 दिन तक लगातार वो दोनों शव को ठिकाने लगाते रहे। यह सब कुछ जून महीने में हुआ था।

यह भी पढ़ें-

Russia-Ukraine War: पीएम मोदी ने पुतिन को ऐसा क्या कह दिया कि गदगद हो गया अमेरिका

Raju Srivastava: अपने पीछे इतने करोड़ की संपत्ति छोड़ गए कॉमेडी किंग राजू श्रीवास्तव

Latest news