Gyanvapi Survey:

लखनऊ।  वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में चल रहे सर्वेक्षण पर आज एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवौसी ने बड़ा बयान दिया है. हैदराबाद सांसद ने कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद थी और रहेगी. उसे कुछ नहीं होने वाला है. हमसे पहले बाबरी मस्जिद छीनी गई. लेकिन अब ज्ञानवापी को छीनने नहीं देंगे।

बाबरी छीनी, ज्ञानवापी नहीं छीन पाएंगे

हैदराबाद सांसद ने कहा कि मैं सरकार को कहना चाहता हूं कि हमसे पहले बाबरी मस्जिद को छीना गया है, लेकिन अब ज्ञानवापी मस्जिद को हरगिज नहीं छीनने देंगे. उन्होंने कहा कि तुमने (सरकार) मक्कारी और अय्यारी से इंसाफ को कत्ल करके हमारी बाबरी मस्जिद को छीना. लेकिन अब याद रखना दूसरी मस्जिद नहीं छीन पाओगे।

1991 के कानून का उल्लघंन

गौरतलब है कि इससे पहले ओवैसी ने कहा था कि ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे का कोर्ट का आदेश भारतीय संविधान के खिलाफ है और वो असंवैधानिक है. उन्होंने कहा कि ये 1991 के कानून का उल्लघंन है. जिसमें धार्मिक स्थलों की यथा स्थिति बरकरार रखने की बात कही गई है.ओवैसी ने आगे कहा था कि अदालत को इस तरह का आदेश नहीं देना चाहिए था।

यह भी पढ़े:

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर