Monday, August 15, 2022

महाराष्ट्र सियासी संकट : SC पहुंचा शिंदे गुट, अयोग्य नोटिस के खिलाफ अर्ज़ी पर कल होगी सुनवाई

गुवाहाटी: महाराष्ट्र का सियासी संकट अब सुप्रीम कोर्ट की पहुंच गया है. गुवाहाटी में डेरा डाले शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने सु्प्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. शिंदे गुट ने यह अर्ज़ी डिप्टी स्पीकर द्वारा दिए गए अयोग्यता के नोटिस के खिलाफ डाली है. दरअसल, शनिवार को महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर ने शिवसेना के ठाकरे गुट की याचिका पर 16 विधायकों को अयोग्यता का नोटिस जारी किया है. इस नोटिस के संबंध में उन विधायकों से जवाब माँगा गया है जो शिवसेना की मीटिंग में मौजूद नहीं थे. इन सभी विधायकों को 27 जून की शाम तक अपनी गैर मौजूदगी पर लिखित जवाब देना है.

क्या है शिंदे की शिकायत में?

प्राप्त ख़बरों के मुताबिक, महाराष्ट्र में शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने SC में दायर की गई अपनी इस याचिका में अयोग्यता नोटिस की वैधता पर सवाल उठाया है. बता दें, इस नोटिस में शिंदे के अलावा 15 अन्य बागी विधायकों का नाम है. हालांकि सर्वोच्च न्यायलय में ये शिंदे गुट की दूसरी याचिका है. बता दें, शिंदे ने एक और याचिका दायर की है. इस अन्य याचिका में शिंदे गट ने शिवसेना विधायक दल का नेता अजय चौधरी को नियुक्त किए जाने को चुनौती दी है. हालांकि इन बागी विधायकों के पास केवल 27 जून की शाम पांच बजे तक का ही समय है, इस समय यदि सुप्रीम कोर्ट का कोई निर्देश या स्टे नहीं आता है तो उनके लिए मुश्किलें बढ़ जाएंगी.

 

राजयपाल ने लिखा DGP को पत्र

महाराष्ट्र में जारी सियासी बवाल के बीच अब महराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य के डीजीपी को (शिंदे कैंप के) पत्र लिखा है. जहां उन्होंने इस पत्र में बागी विधायकों और उनके परिवारों को तत्काल आधार पर सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है. बता दें, बीते दिनों शिवसेना के बागी विधायकों के महाराष्ट्र स्थित आवास पर हमले की खबर सामने आ रही थी. इस बीच शिवसेना के बागी विधायक असम के गुवाहाटी में अपना डेरा जमाए बैठे हुए हैं. इस दौरान उनके और उनके परिवार जनों के लिए राज्यपाल ने डीजीपी से सुरक्षा की मांग की है.

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news