बिहार. देशभर में 60 साल से अधिक उम्र वाले बीमारी लोगों को एहतियाती खुराक की तीसरी डोज देने का अभियान जारी है। लेकिन मधेपुरा बिहार के रहने वाले 84 वर्षीय वाले ब्रहमदेव मंडल Brahmadev mandal कोरोना वैक्सीन की 12 डोज ले चुके हैं। धोखे और फर्जी कागजों से उन्होंने ये डोज लगवाई हैं। लेकिन अब जब उन पर कानूनी शिकंजा कसने लगा है तो उन्होंने आत्महत्या करने की धमकी दी है। इसके साथ ही उन्होनें मामले की शिकायत पीएम मोदी से करने की बात भी कही है।  

FIR होते ही गायब हुए ब्रहमदेव

ब्रहमदेव मंडल द्वारा धोखे से 12 बार वैक्सीन लेने का मामला जैसे ही स्वास्थ्य विभाग के पास पहुंचा तो तुरंत कार्रवाई करते हुए उनके खिलाफ एफआईआर FIR दर्ज कराई गई। स्वास्थ्य विभाग ने बुजुर्ग पर धोखधड़ी और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया है। केस दर्ज हो जाने के बाद स्थानीय पुलिस उनको गिरफ्तार करने घर पहुंची तो वो नदारद मिले। पुलिस लगातार उन्हें खोज रही है किंतु वे डर के मारे छिपते फिर रहे हैं।

आत्महत्या और पीएम मोदी से शिकायत की धमकी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक अब ब्रह्मदेव मंडल ने एक वीडियो जारी किया है। जिसमें उन्होने पुलिस की दबिश और कानूनी कार्रवाई के डर से आत्महत्या करने की धमकी दी है। ब्रह्मदेव ने उलटा स्वास्थ विभाग के अधिकारियों पर इल्जाम लगाते हुए कहा कि विभाग ने खुद को बचाने के लिए उन पर गलत मामला बनाया है। पुलिस की दबिश से उनका पूरा परिवार सहमा हुआ है। उन्होंने कहा कि अगर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होती है तो वह आत्महत्या कर लेंगे। इसके साथ ही इस पूरे मामले की शिकायत उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से करने की बात भी कही।

किया था 12 टीके लेने का दावा

बता दें कि ब्रहमदेव मंडल ने कोरोना के 12 टीके लगवाने का दावा करते हुए कहा था कि सरकार ने बहुत अच्छी चीज बनाई है और सभी को इसका ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाना चाहिए। इससे पहले वह बीमार रहते थे लेकिन अब पूरी तरह स्वस्थ्य हैं।

यह भी पढ़ें:

UP Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की पहली लिस्ट, 125 प्रत्याशियों में से 50 महिलाएं

Resignation Continues in BJP : भाजपा में इस्तीफों का दौर जारी, शिकोहाबाद से विधायक ने भी छोड़ी पार्टी

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर