Friday, August 19, 2022

Ashes : एशेज सीरीज का चौथा टेस्ट ड्रॉ, अंतिम टेस्ट खेल सकते हैं ख़्वाजा

Sydney : सिडनी

Ashes,ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड ( Aus vs ENG ) के बीच खेले जाने वाली एशेज सीरीज ( Ashes Series ) का चौथा टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया। सिडनी के एमएसजी ग्राउंड ( Sydney MSG ground ) में खेले जाने वाले मुकाबले ने ड्रॉ होने से पहले कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। एक तरफ जहां उस्मान ख़्वाजा के बैक टू बैक शतक ने रिकॉर्ड बनाया तो वही स्टीव स्मिथ ने भी अपने एशेज श्रृंखला में 3000 रन पूरे किए ।

ऑस्ट्रेलिया ये मैच जीत सकती थी लेकिन इंग्लैंड के पुछल्ले बल्लेबाजों ने उनकी मेहनत पर पानी फेर दिया। और अंतिम दिन खत्म खत्म होने तक 9 विकेट पर 270 रन बना कर मैच ड्रॉ कर दिया।

ऑस्ट्रेलिया नहीं कर सकी क्लीन स्वीप, उस्मान की बेहतरीन पारी

एशेज सीरीज (Ashes 2021-22) में लगातार तीन टेस्ट मैचों में इंग्लैंड टीम को हराने के बाद ऑस्ट्रेलिया टीम को सिडनी टेस्ट में सिर्फ ड्रॉ से काम चलाना पड़ा। क्योंकि इंग्लैंड के पुछल्ले बल्लेबाजों ने अपना दम दिखा कर मैच के आखिरी दिन 9 विकेट गिरने के बावजूद मैच को ड्रॉ कराने में सफल रहे। लेकिन ऑस्ट्रेलिया इस मैच को भले ही जीत नहीं पाया हो ।

 

लेकिन ऑस्ट्रेलिया टीम के बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा (Usman Khawaja) के लिए ये मैच शानदार रहा, जिन्होंने दोनों पारियों में शतक जमाया। बेशक उन्होंने बैक टू बैक शतक लगाए हो लेकिन इन शतकों के बावजूद होबार्ट में होने वाले एशेज सीरीज के अंतिम टेस्ट में उनके खेलने की संभावना नहीं की जा सकती । ये बात खुद ख्वाजा भी कह चुके हैं।

कमिंस की तमन्ना ख़्वाजा अंतिम टेस्ट मैच खेले

इंग्लैंड से ऑस्ट्रेलिया भले ही चौथा टेस्ट मैच सिडनी के एमएसजी ( MSG ground ) ना जीत सका हो लेकिन दोनो पारियों में शतक लगाने वाले उस्मान ख़्वाजा के लिए खुद ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान पैट कमिंस (Pat Cummins) ने ऐसे संकेत दिए हैं, जिसके बाद ख्वाजा के खेलने की संभावना बढ़ गई है।

ढाई साल बाद की एशेज में वापसी

ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ उस्मान ख्वाजा ने करीब ढाई साल बाद सिडनी में चौथा टेस्ट मैच खेल कर ऑस्ट्रेलियाई टीम में वापसी की , इसके साथ ही अपने आपको साबित करते हुए सिडनी टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जमाए । उन्हें ” मैन ऑफ द मैच” चुना गया । इस से पहले मैच का कोई नतीजा तय हो ख़्वाजा ने खुद आखिरी टेस्ट मैच को लेकर अपने मन की बात जाहिर करते हुए कहा, कि वह होबार्ट में खेले जाने वाले मैच में खेलने की उम्मीद नहीं कर रहे हैं। ख़्वाजा को इस टेस्ट में ट्रैविस हेड की जगह शामिल किया गया था। हेड सिरीज़ के शुरुआती तीनों मैच खेले थे।

बैक टू बैक शतक से कप्तान का आया दिल

सिडनी के चौथे टेस्ट मैच में ख़्वाजा के दोनो पारियों में दो शतक के बाद उन्हें टीम से हटाना आसान नहीं है।
अब सबसे बड़ा सवाल ये उठता है, कि ढाई साल में पहला टेस्ट मैच खेलते हुए और उसमें शानदार प्रदर्शन करने के बाद क्या उस्मान ख़्वाजा को अंतिम और होबार्ट में खेले जाने वाले टेस्ट से बाहर किया जाना चाहिए.? ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान कमिंस ने इस मुद्दे पर अपनी बात रखते हुए कहा, कि लगातार दो शतक ठोकने वाले बल्लेबाज को बाहर करना इतना आसान नहीं है।

कमिंस ने मैच के बाद राय जाहिर करते हुए कहा,

“मैं चयनकर्ता नहीं हूं, और कोई लंबे समय बाद वापस आकर दो शतक जमा दे, और उसे अगले सप्ताह हटा दिया जाए ये आसान नहीं । हम इस पर चर्चा करेंगे, अगले कुछ दिनों में चयनकर्ता भी इस पर बात कर सकते है.”

कमिंस ने कहा, कि उस्मान ख़्वाजा के पास जो अनुभव है, और जो बेहतरीन फॉर्म हैं उसकी वजह से वह बल्लेबाजी कर रहे हैं,जो शानदार है और टीम के लिए जरूरी है।

ट्रेविस हेड ने भी जमाया था शतक

एशेज सीरीज में 35 साल के बाएं हाथ के ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज उस्मान ख़्वाजा ने सिडनी टेस्ट में साथी खिलाड़ी ट्रेविस हेड की जगह ली। हेड बाएं हाथ के ही मिडिल ऑर्डर के बल्लेबाज हैं जिन्होंने सीरीज के पहले तीन टेस्ट मैच खेले थे।

हेड ने ब्रिसबेन में हुए पहले ही टेस्ट मैच में 150 रनों की उम्दा पारी खेली थी, साथ ही उन्होंने दूसरे टेस्ट में भी उन्होंने अर्धशतक लगाया था। लेकिन कॉरोना ने ऐसी पकड़ बनाई की तीसरे टेस्ट के बाद उसके वायरस के संक्रमण हेड भी चपेट में आ गए।जिसकी वजह से उन्हें सिडनी टेस्ट मैच से हटना पड़ा

यह भी पढ़ें :-

Delhi AQI : बारिश और सर्द हवाओं ने दिल्ली की फिज़ा को बदला, आई AQI में गिरावट

Salute India Army भारी बर्फ के बीच पैदल चलकर गर्भवती को पहुंचाया अस्पताल

 

Latest news