MP, Bhopal : 

छत्तीसगढ़ की धर्म संसद में राष्ट्रपिता महात्मागांधी पर अमर्यादित टिप्पणी कर गिरफ्तार हो चुके कालीचरण महाराज kalicharan maharaj  महाराष्ट्र के अकोला जिले शिवाजी नगर shivaji nagar के रहने वाले हैं. कालीचरण भावसार समाज से आते हैं. इनका असली नाम अभिजीत धनंजय सराग abhijeet dhananjaya saraag  है. कालीचरण का जन्म एक सामान्य परिवार में हुआ था. इनके पिता का नाम धनंजय सराग dhanajaya sarag है. जो अकोला स्थित जयन चौक में एक दवा की दूकान चलाते हैं.

कुल आठवीं पास हैं कालीचरण

 

कालीरण महाराज के बारे में कहा जाता है,कि इन्होने ज्यादा स्कूली शिक्षा नहीं ली है. लेकिन कई धर्मग्रन्थों का गहराई से अध्य्यन किया है. इन्होने कुल आठवीं तक की पढ़ाई की है. इनकी पढ़ाई शहर के पेठ इलाके में स्थित जिला परिषद स्कूल में हुई है. आज की तारीख में इनकी उम्र 48 साल बताई जा रही है.

मराठी और हिन्दी पर अच्छी पकड़

कालीचरण महाराज का बचपन गरीबी और अभावों में बीता. बाल्यकाल के दौरान आर्थिक तंगी के चलते इनके पिता ने इन्हें अपनी मौसी के घर इंदौर भेज दिया. इनका बचपन इनके पिता की मौसी के घर में बीता. जिस वजह से मराठी भाषी होने के बावजूद कालीचरण की पकड़ हिन्दी और मराठी पर मजबूत हो गई.

भय्यू जी महाराज के करीबी बने

कालीचरण महाराज के साथ महाराज शब्द भय्यू जी महाराज के आश्रम से ही जुड़ा है. इंदौर में प्रवास के दौरान कालीचरण भय्यू जी महाराज के आश्रम में जाने लगे और बहुत जल्द ही उनके करीब आ गए. यहीं से उनके साथ महाराज शब्द जुड़ गया. यहीं से उन्होने अपनी एक अनूठी वेशभूषा भी बनाई जिसे लेकर जल्द ही लोगों के बीच फेमस हो गए. इस नए रूप में कालीचरण महाराज माथे पर बड़ी सी लाल बिन्दी लगाते हैं. और हमेशा लम्बे व खुले बाल रखते हैं. लाल रंग के वस्त्र पहनते हैं. उनके इस स्वरूप में सोशल मीडिया पर भी कई पेज बने हैं. जिसपर समर्थकोंं की संख्या लाखों में है.

चुनाव में भी हाथ आज़मा चुके हैं महाराज

कालीचरण महाराज ने साल 2017 मे हुए अकोला नगर निकाय चुनाव में भी दांव आज़माया था. लेकिन वे चुनाव हार गए थे. वहीं साल 2019 के विधानसभा चुनाव में भी उनकी उम्मीदवारी को लेकर बड़ी चर्चा थी. लेकिन इन्होने चुनाव नहीं लड़ा

शिव तांडव ने खूब बटोरी सुर्खियां

कालीचरण महाराज पिछली साल शिव तांडव स्त्रोत गाकर खूब चर्चा में आए थे. उन्होने यह शिव तांडव मध्य प्रदेश में गाया था. यह वीडियो अभिनेता अनुपम खेर ने ट्विटर पर शेयर कर इनकी वाहवाही की थी. ये हर साल कांवड़ यात्रा में भी हिस्सा लेते हैं और वहां भी शिव तांडव स्त्रोत गाते हैं. जो विभिन्न सोशल मीडिया पर वायरल होते रहते हैं. 

यह भी पढ़ें

Omicron Crisis: ओमीक्रॉन का खतरा देखते हुए RRR फिल्म की रिलीज़ डेट आगे बढ़ी, इस दिन आने वाली है सिनेमाघरों में !

DS Mishra Appointed as the Chief Secretary of UP जारी हुए आधिकारिक आदेश

 

SHARE