नई दिल्ली: पाकिस्तान ने नया आरोप लगाते हुए कहा है कि कुलभूषण जाधव की पत्नी की जूतियां उन्हें इसलिए वापस नहीं की गईं हैं, क्योंकि उनकी जूतियों में जासूसी में मदद वाली कुछ मैटेलिक चीज लगी हो सकती है. इतना ही नहीं पाकिस्तान ने जाधव की पत्नी की जूतियों को जांच के लिए फोरेंसिक लैब भी भेज दिया है. लेकिन क्या पाकिस्तान ने एक सोची समझी साज़िश के तहत कुलभूषण जाधव की मां और उनकी पत्नी की बेइज्जती की? क्या सारा ड्रामा पहले ही रच लिया गया था? आखिर क्यों मुलाकात से पहले उसने कुलभूषण जाधव की पत्नी के जूते तक उतरवा लिए और अब उसमें स्पाई कैमरा होने की बेतुकी दलील दे रहा है? इन तमाम सवालों के बीच आज हम आपको दिखाएंगे – कैसे पाकिस्तान हमदर्दी के नाम पर हिंदुस्तान की बेइज्जती करता है और हम पाकिस्तान के लिए अपने दिल के दरवाजे खोल देते हैं.

एक ट्वीट पर पाकिस्तान के लोगों को मेडिकल वीजा जारी कर दिया जाता है. पाकिस्तानी यहां आकर इलाज कराते हैं और एक नई ज़िंदगी पाने के बाद हिंदुस्तान का शुक्रिया भी अदा कर जाते हैं. लेकिन इन सबके बीच पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है. हर बार एहसान का बदला किसी नए जख्म से देता है. ऐसे पाकिस्तान से कैसे निपटा जाए? ऐसे तमाम सवालों पर चर्चा करेंगे लेकिन उससे पहले ये रिपोर्ट देखिए कि पाकिस्तान कैसे हमारा अपमान करता है और हम उसके साथ दरियादिली दिखा रहे हैं.

ये हमदर्दी के नाम पर पाकिस्तान की सबसे नई और नीच हरकत है. जब एक मां अपने बेटे से और एक पत्नी अपने पति से मिल कर निकलती है तो पाकिस्तानी पत्रकार उन्हें जलील करते हैं. पाकिस्तान के पत्रकार बेशर्मी पर उतर आए. वहीं भारत के उप-उच्चायुक्त जेपी सिंह हताशा में हाथ धुनते रहे, लेकिन इस अपमान की स्क्रिप्ट लिखने वाला पाकिस्तान इसे अपनी हमदर्दी बताकर दुनिया की आंखों में धूल झोंकता रहा लेकिन उसका असली चेहरा कुछ तस्वीरों से सामने आ गया. पूरे हिंदुस्तान ने देखा कैसे अपने पति से मिलने पहुंची एक सुहागन से उसकी चूड़ी, उसकी बिंदी और उसका मंगलसूत्र तक उतरवा लिया गया.

यही नहीं उनके जूते भी उतरवाए और फिर वापस भी नहीं लौटाया, जब बवाल मचा तो पाकिस्तान ने जूते में जासूसी उपकरण होने का इल्ज़ाम लगा दिया. ये एक मां और बहू का ही अपमान नहीं था ये भारतीय संस्कृति का अपमान था, यहां तक कि इंसानियत का भी अपमान था. एक तरफ पाकिस्तान हिंदुस्तान की दो महिलाओं का अपमान करता है. वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान की महिलाओं को हमारी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज में अपनी मां दिखाई देती है. मुंह के कैंसर से जूझ रही पाकिस्तान की फैजा तनवीर ने ट्वीट में लिखा – आप मेरे लिए मां ही हैं.. प्लीज मुझे मेडिकल वीजा दे दें और उन्हें वीज़ा मिल जाता है. इन सबके बावजूद लेकिन पाकिस्तान बदलने वाला नहीं, वो नेकी का जवाब बेइज्जती से देता है और दोस्ती का जवाब हमले से देता है. आखिर ऐसे पाकिस्तान का क्या इलाज है?

कुलभूषण जाधव मामले में नरेश अग्रवाल के बयान पर भड़के स्वामी चक्रपाणि, कहा- ऐसे नेताओं को गोली मार देनी चाहिए

कुलभूषण जाधव की मां और पत्नी के साथ हुए सलूक पर भारत की कड़ी प्रतिक्रिया पर बोला पाकिस्तान, जाधव की पत्नी के जूतों में कुछ संदिग्ध था