नई दिल्ली: इस वक्त देश में एक बेहद बेतुकी और बेबुनियाद अफवाह फैली है, ये अफवाह महिलाओं की चोटी काटे जाने को लेकर है. इंडिया न्यूज के पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि चोटी काटे जाने के पीछे कोई भी नहीं है. अलग-अलग राज्यों की पुलिस ने भी जिन मामलों में तहकीकात की है उन सभी में ये बात साबित हो चुकी है कि महिलाओं ने अपनी चोटी खुद काटी है.
 
चोटी कटवा को बेनकाब करने से पहले आपको इंडिया न्यूज की बड़ी पड़ताल और पड़ताल में सामने आए पांच सबूत दिखाते हैं. गोरखपुर की सपना ने तांत्रिक के कहने पर अपनी चोटी खुद काटी और फिर ऐसा बयान दिया जिस पर यकीन करना मुश्किल था.
 
लेकिन पुलिस की जांच में भेद खुल गया, सपना बार-बार बेहोश हो जाती थी. डॉक्टर की बजाए उसके घर वाले इलाज के लिए उसे तांत्रिक के पास ले गए और उसी ने ऐसी सलाह दे दी. चंद्रभान दास नाम के भट्टा परसौनी नाम के एक व्यक्ति को पास गईं जो झाड़-फूंक का काम करता है. उनसे इनको सलाह दी कि आप अपनी चोटी काट के लाओ. तुम्हारी ये बीमारी ठीक हो जाएगी, समस्या खत्म हो जाएगी. इन्होंने अपनी चोटी खुद से काट ली.
 
पुलिस ने तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया और उसनेअपना जुर्म कबूल कर लिया है, इस तरह गोरखपुर में चोटी कटवा की बात अफवाह निकली. गोरखपुर की तरह ही राजस्थान के धौलपुर में राजकुमारी नाम की इस महिला की चोटी कट गई. इसके बाल देख कर आप हैरान होंगे कि बाल इस तरह किसने काटे होंगे. 
 
दरअसल चोटी कटवा के अफवाह की शुरुआत राजस्थान से हुई थी और महिलाओं के बाल काटने की घटनाएं देश के पांच राज्यों में फैल गई. राजस्थान, हरियाणा , दिल्ली, उत्तर प्रदेश  और मध्यप्रदेश जबकि चोटी कटवा महज अफवाह है और इसका सबूत राजस्थान के जयपुर में 16 जुलाई को ही सामने आ गया था. 
 
(वीडियो में देखें पूरा शो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App