नई दिल्ली. WhatsApp Latest Update: इजरायली कंपनी एनएसओ के पेगासस स्पाईवेयर के जरिए जासूसी के खुलासे के बाद भारत में अपकमिंग व्हाट्सएप पेमेंट्स सर्विस पर संकट के बादल छा गए हैं. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने व्हाट्सएप मैसेजिंग ऐप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को डिजिटल पेमेंट सेवा की अनुमति देने पर जोखिम बढ़ने की आशंका व्यक्त की है. केंद्र सरकार ने इस बारे में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) और नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) से बात भी करने जा रही है.

इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक एक सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पेगासस स्पाईवेयर के जरिए व्हाट्सएप अकाउंट पर जासूसी की खबरें सामने आने का बाद केंद्र सरकार को देशभर के व्हाट्सएप यूजर्स की सुरक्षा और निजता की चिंता है. ऐसे में व्हाट्सएप जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के द्वारा जरिए डिजिटल पेमेंट सर्विस को लेकर सेक्योरिटी सबसे जरूरी मुद्दा है.

आपको बता दें कि व्हाट्सएप पेमेंट्स को लेकर कंपनी ने लगभग सभी कागजी कार्यवाही पूरी कर ली है. पिछले महीने ही एनपीसीआई की तरफ से खबर आई थी कि व्हाट्सएप ने डिजिटल पेमेंट सर्विस की ऑडिट जारी है. दिसंबर तक यह ऑडिट पूरी हो जाएगी और व्हाट्सएप पेमेंट्स को मंजूरी मिल जाएगी. इसके बाद कंपनी कभी भी भारत में व्हाट्सएप पेमेंट्स सर्विस लॉन्च कर सकती है. इसके लॉन्च होने के बाद भारतीय व्हाट्सएप यूजर्स आसानी से एक-दूसरे को पैसा ट्रांसफर कर सकेंगे.

गौरतलब है पिछले एक हफ्ते से इजरायली फर्म एनएसओ के पेगासस सॉफ्टवेयर के जरिए भारतीय समेत करीब 1,400 व्हाट्सएप यूजर्स की चैट की जासूसी की खबर सामने आई थी. इसकी जानकारी खुद व्हाट्सएप कंपनी ने अपने बयान में दी. इसके बाद केंद्र सरकार ने व्हाट्सएप ने जवाब मांगा कि उसके सिस्टम में कहां चूक हुई. पेगासस जासूसी कांड के सामने आने के बाद अब व्हाट्सएप पेमेंट्स सर्विस की लॉन्चिंग पर तलवार लटक सकती है.

Also Read ये भी पढ़ें-

व्हाट्सएप जासूसी मामले में पूर्व RSS विचारक केएन गोविंदाचार्य ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की याचिका, व्हाट्सएप, फेसबुक और NSO पर FIR दर्ज कर NIA जांच के आदेश देने की मांग

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला का बीजेपी पर बड़ा आरोप, कहा-नरेंद्र मोदी सरकार ने इजराइली जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस खरीदी, प्रियंका गांधी, ममता बनर्जी, प्रफुल्ल पटेल की हुई जासूसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App