नई दिल्ली. WhatsApp Latest Update: भारत समेत दुनियाभर के करोड़ों एंड्रॉयड फोन में मैलवेयर अटैक होने का खुलासा हुआ है. इस मैलवेयर के जरिए एंड्रॉयड फोन में व्हाट्सएप जैसे प्रमुख एप्लीकेशंस हैक हो जाते हैं और उनकी जगह डुप्लीकेट वर्जन इंस्टॉल हो जाता है. जिसके बाद यूजर्स को अपने फोन में फर्जी विज्ञापन दिखने लगते हैं. इजराइली साइबर सेक्योरिटी रिसर्च कंपनी चेक पॉइंट ने इसका दावा किया है और चेताया है कि इस खतरनाक वायरस ने सबसे ज्यादा भारत जैसे विकासशील देशों के एंड्रॉयड यूजर्स को अपना निशाना बनाया है. इस खतरनाक मैलवेयर के जरिए एंड्रॉयड फोन को हैक कर लोगों की निजी जानकारियां भी चोरी होने का खतरा मंडरा रहा है.

फोर्ब्स की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में करीब 1.5 करोड़ एंड्रॉयड फोन में इस मैलवेयर ने हमला किया है. इसके अलावा अमेरिका में 3 लाख और इंग्लैंड में 1,37,000 एंड्रॉयड फोन्स इस मैलवेयर से प्रभावित हुए हैं.

यह मैलवेयर एंड्रॉयड फोन में गूगल प्ले स्टोर नहीं बल्कि थर्ड पार्टी एप 9apps.com के जरिए फैला है. यह एप्लीकेशन चीन के अलीबाबा ग्रुप की है. हालांकि ऑफिशियल गूगल प्ले स्टोर से एप्लीकेशन डाउनलोड करने पर मैलवेयर के फोन में आने की संभावना न के बराबर है.

यह मैलवेयर एंड्रॉयड फोन में व्हाट्सएप जैसे एप्लीकेशंस को हैक कर उनकी जगह डुप्लीकेट एप्स इंस्टॉल कर लेता है जिसके बाद यूजर्स को फर्जी विज्ञापन दिखाए जाते हैं. इस मैलवेयर से फोन से लोगों का निजी डेटा चोरी होने का भी खतरा है.

हालांकि अभी तक मैलवेयर के एंड्रॉयड फोन में इतने बड़े स्तर पर हमला करने की कोई खबर नहीं आई थी. यह रिपोर्ट इजराइल की सॉफ्टवेयर कंपनी चेक पॉइंट ने दी है, इसने तमाम विकासशील देशों के एंड्रॉयड यूजर्स को चेताया है कि अपने एंड्रॉयड मोबाइल फोन में यह खतरनाक मैलवेयर मौजूद हो सकता है, इसलिए आप सतर्क रहें.

क्या होता है मैलवेयर-
दरअसल मैलवेयर एक तरह का सॉफ्टवेयर होता है जो कि वायरस की तरह काम करता है. यह इंटरनेट या किसी एप्लीकेशन के माध्यम से कंप्यूटर, मोबाइल फोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स में घुस जाता है और उसे हैक कर लेता है. मैलवेयर उस डिवाइस से बिना यूजर की अनुमति के डेटा अपलोड और डाउनलोड कर सकता है और आपकी निजी जानकारी को भी एक्सेस कर सकता है.

इससे आपके फोन में मौजूद कॉन्टेंक्ट्स, मेल, मैसेजेस, फोटो, वीडियो और अन्य दस्तावेज किसी दूसरे व्यक्ति के हाथ लगने का खतरा रहता है. दुनियाभर के हैकर्स इंटरनेट हैकिंग में भी मैलवेयर का इस्तेमाल करते हैं.

WhatsApp Latest Update: रांची में व्हाट्सएप ग्रुप में भड़काऊ पोस्ट भेजने वाले लोगों और एडमिन के खिलाफ होगी एफआईआर, पुलिस ने जारी किया आदेश

WhatsApp Latest Update: इस साल आएगा व्हाट्सएप फिंगरप्रिंट अनलॉक अपडेट, जानिए एंड्रॉयड फोन में कैसे काम करेगा यह फीचर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App