नई दिल्ली।भारत की प्रमुख कार निर्माता और व्यापारिक समूह टाटा समूह, एक बैटरी कंपनी शुरू करने की योजना बना रही है। जिसे समूह भारत समेत कई अन्य देशों में स्थापित करने की योजना बना रहा है। टाटा के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने यह जानकारी दी।

चेयरमैन ने कहा कि टाटा इन दिनों इलेक्ट्रिक वाहनों के निर्माण पर जोर दे रही है। एन चंद्रशेखरन ने कहा कि समूह अपने सभी व्यवसायों को बदल रहा है। टाटा मोटर्स और जगुआर, लैंड रोवर शामिल है।

आगे कहा कि सख्त जलवायु लक्ष्यों को पूरा करने के लिए कंपनी बैटरी और उसके कच्चे माल की आपूर्ति श्रृंखला में निवेश करके शून्य उत्सर्जन रणनीतियों का पालन करेगी। भारत की सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार निर्माता टाटा मोटर्स ने 2025 तक 10 इलेक्ट्रिक मॉडल लॉन्च करने की योजना बनाई है, जबकि जगुआर लैंड रोवर का लग्जरी जगुआर ब्रांड 2025 तक पूरी तरह से इलेक्ट्रिक हो जाएगा और कार निर्माता 2030 तक अपनी पूरी लाइनअप के ई-मॉडल लॉन्च करेगी।

उन्होंने आगे कहा कि जलवायु परिवर्तन पर दबाव बढ़ रहा है, जो केवल समय के साथ बढ़ेगा। टाटा समूह जल्द ही कार्बन न्यूट्रल बनने की दिशा में अपने लक्ष्य की घोषणा करेगा। बैटरी “ब्लूप्रिंट” अक्षय ऊर्जा, हाइड्रोजन, स्टोरेज सॉल्यूशंस और सर्कुलर इकोनॉमी में निवेश करके “भविष्य के लिए तैयार” होने की व्यापक योजना का हिस्सा है।

आपको बता दें टाटा मोटर्स 100 अरब डॉलर से अधिक के समूह की ऑटोमोटिव शाखा, भारत में नेक्सॉन ईवी और टिगोर ईवी जैसे मॉडलों के माध्यम से बिक्री के मामले में नेतृत्व कर रही है। टाटा ने हाल ही में AVINYA को पेश किया था, एक इलेक्ट्रिक अवधारणा जिसके आधार पर नए इलेक्ट्रिक मॉडल 500 किलोमीटर से अधिक की बढ़ी हुई रेंज के साथ आएंगे। टाटा मोटर्स ने हाल ही में वाणिज्यिक वाहनों में अपने लोकप्रिय मिनी ट्रक, ऐस का एक पूर्ण-इलेक्ट्रिक संस्करण लॉन्च किया है।

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर