नई दिल्ली. नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) की मंजूरी के बाद वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय की प्रक्रिया पूरी हो गई है और नई कंपनी ‘वोडाफोन आइडिया लिमिटेड’ का संचालन भी शुरू हो गया है. आइडिया-वोडाफोन के विलय के बाद एयरटेल से सबसे ज्यादा ग्राहकों वाली कंपनी का तमगा छिन गया है. आइडिया-वोडाफोन लिमिटेड अब भारत की नंबर एक और दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी सर्विस प्रोवाइडर कंपनी बन गई है. 

लेकिन इस दौरान ट्विटर पर रिलायंस जियो ने वोडाफोन आइडिया के ट्वीट पर मजे ले लिए. दरअसल आइडिया के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से वोडाफोन को ट्वीट कर कहा गया, ”वे सभी हमारे बारे में बात कर रहे हैं”. इस पर वोडाफोन ने जवाब में ट्वीट किया, ”हां आइडिया, इस बार हमने इसे आधिकारिक कर दिया.” इन दोनों की बातचीत पर चुटकी लेते हुए रिलायंस जियो ने वोडाफोन और आइडिया को टैग करते हुए लिखा, ”हम तो साल 2016 से लोगों को साथ ला रहे हैं.” लोगों ने भी रिलायंस जियो के इस ट्वीट को खूब पसंद किया.

गौरतलब है कि आइडिया-वोडाफोन के पास 40.8 करोड़ से अधिक ग्राहक हैं. नई कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 32.2 फीसदी होगी. इस विलय में वोडाफोन समूह की 45.2 फीसदी हिस्सेदारी है और आदित्य बिरला समूह की 26 फीसदी.

टेलीकॉम डिपार्टमेंट की ओर से पिछले महीने विलय की मंजूरी मिलने के बाद न्यायाधिकरण (ट्रिब्यूनल) की मंजूरी ही अंतिम आधिकारिक अनुमति थी. वोडाफोन आइडिया के बोर्ड अॉफ डायरेक्टर्स में छह स्वतंत्र डायरेक्टर्स समेत कुल 12 डायरेक्टर्स हैं और कुमार मंगलम बिरला इसके अध्यक्ष हैं. बोर्ड अॉफ डायरेक्टर्स ने बालेश शर्मा को सीईओ नियुक्त किया है.

वोडाफोन और आइडिया सेल्युलर के एक होने से ग्राहकों को होंगे ये सारे फायदे

वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के मर्जर को NCLT की हरी झंडी, भारती एयरटेल से छिना नंबर वन का ताज