नई दिल्ली। ओला इलेक्ट्रिक ने बाजार से 1,441 इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों को वापस लेने का फैसला किया है. हाल ही में एक इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर में आग लगने की घटना के मद्देनजर कंपनी ने यह कदम उठाया है. कंपनी ने एक बयान में कहा कि वह 26 मार्च को पुणे में एक इलेक्ट्रिक दोपहिया में आग लगने की घटना की जांच कर रही है. प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि यह अपनी तरह का एकमात्र मामला है. हालांकि कंपनी ने कहा कि सुरक्षा उपाय के तौर पर वह इस खेप के 1,441 इलेक्ट्रिक वाहनों को बाजार से वापस ले रही है और वह इन स्कूटरों की जांच करेगी.

हमारे इंजीनियर करेंगे पूरी जांच

ओला इलेक्ट्रिक ने कहा, “इन स्कूटरों की हमारे इंजीनियरों द्वारा पूरी तरह से जांच की जाएगी. वे बैटरी सिस्टम, थर्मल सिस्टम से लेकर सिक्योरिटी सिस्टम तक सब कुछ चेक करेंगे. कंपनी ने दावा किया कि उसका बैटरी सिस्टम पहले से ही अनुपालन कर रहा है और एआईएस 156 के लिए परीक्षण हो चुका है. यह भारत के लिए प्रस्तावित नया मानक है. इसके अलावा यह बैटरी यूरोपीय मानक ईसीई 136 पर भी खरी उतरती है. मामले पर तत्काल संज्ञान लेते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने इन मामलों की जांच के लिए एक कमेटी का गठन किया है.

ओकिनावा ने 3,000 ईवी रिकाल की

हाल के दिनों में देश में कई जगहों पर बिजली के दोपहिया वाहनों में आग लगने की घटनाएं सामने आई हैं. इसके चलते इलेक्ट्रिक टू व्हीलर कंपनियां अपने वाहनों को बाजार से वापस बुला रही हैं.ओकिनावा ऑटोटेक ने बाजार से 3,000 से अधिक यूनिट वापस ले ली हैं. प्योर ईवी ने भी बाजार से 2,000 यूनिट वापस ले ली है. पिछले दो महीने में ऐसे कई मामले सामने आए हैं जिसमें बिजली के दोपहिया वाहनों में आग लग गई है.इससे ग्राहकों के दिलों में खौफ पैदा हो गया है. इन मामलों में अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है और यह बात भारत सरकार की नजरों में चढ़ गई है.

 

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर