Neuralink Brain Chip

नई दिल्ली, Neuralink Brain Chip  एलन मस्क अपने न्यूरोटेक स्टार्टअप को इंसानों पर ट्राय करने के लिए एक कदम और आगे बढ़ चुके हैं. इस टेक्नोलॉजी के क्लीनिकल ट्रायल डिरेक्टर (Clinical Trial Director) के लिए जॉब पोस्ट की गयी है. इस कड़ी में अब एलन मस्क अब तक बंदरों और सूअरों पर ये ट्रायल कर चुके है.

न्यूरोटेक से ह्यूमन-AI सिम्बायोसिस बनाने की कोशिश

पिछले साल एलन मस्क ने बताया था कि इंसानों पर इसका ट्रायल वर्ष 2022 में किया जाएगा. आपको बता दें अब तक इसका ट्रायल केवल बंदरों और सूअरों पर ही हुआ है. ट्रायल में 9 साल के बंदरों पर चिप लगाई गयी थी जो अपनी मानसिक क्षमता से गेम्स खेल पा रहे थे. इस ट्रायल में ऐसे लोगों को शामिल किया जाएगा जो पैरालिसिस का शिकार हो. ट्रायल का उद्देश्य कंप्यूटर के कर्सर का डायरेक्ट न्यूरल कंट्रोल गेन करना रहेगा. सिक्के के साइज़ की ये चिप आसानी से ब्रेन में फिट की जा सकती है. इसको बनाने का पहला उद्देश्य प्रैटिकल ऐप्लीकेशन ब्रेन डिसऑर्डर और डिजीज से जूझ रहे लोगों को ठीक करना रहेगा.

क्लिनिकल ट्रायल डायरेक्टर का पद है खाली

न्यूरोटेक ने कंपनी के लिए क्लिनिकल ट्रायल डायरेक्टर पोस्ट किया है. इस जॉब की रिक्वायरमेंट्स में एप्लिकेंट को मिशन की समझ होनी चाहिए. ऐसे लोग जो इस काम के लिए इच्छुक और उत्सुक हैं उनकी जोइनिंग की जा रही है. इसी के साथ डायरेक्टर को वर्ल्ड के टॉप इंनोवेटर्स और डॉक्टर्स के साथ-साथ इंजीनियर्स के साथ काम करने का मौका मिलेगा.

मेमोरी को कर सकता है सेव और रीप्ले

इस प्रोजेक्ट की सबसे अनोखी बात चिप के मेमोरी को सेव या रीप्ले करने की क्षमता है. आप भविष्य में असंभव सा लगता ये काम कर सकेंगे. इस मेमोरीज को आप एक नयी बॉडी या ह्यूमन बॉडी में भी डाउनलोड कर सकेंगे.

UP Election 2022 : यूपी चुनाव में सपा-रालोद गठबंधन को समर्थन देकर नरेश टिकैत ने लिया यू टर्न

IIT Bombay: IIT बॉम्बे में छात्र ने की आत्महत्या, सातवीं मंज़िल से कूदकर की आत्महत्या

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर

SHARE