नई दिल्लीः आपके आईफोन में कई ऐसे ऐप हैं, जो आपकी हर गतिविधि पर नजर रख सकते हैं और कुछ संवेदनशील डेटा भी चुरा सकते हैं. जी हां…और ऐसा करने से पहले जरूरी नहीं कि ये ऐप आपकी इजाजत मांगे या आपको नोटिफिकेशन भेजे. जानी-मानी टेक्नॉलजी साइट टेकक्रंच की मानें तो ऐपल के ऑपरेटिंग सिस्टम (आईओएस) के कई ऐप एक एनालैटिक्स कंपनी ग्लासडोक्स की मदद से एप्पल यूजर की गतिविधियों को कैप्चर कर लेते हैं. इस दौरान अगर आपने बैंक ट्रांजेक्शन भी किए हैं तो उससे जुड़ीं जानकारियां भी इन ऐप्स को मिल जाती हैं. सबसे हैरान करने वाली बात यह है कि यूजर को इससे जुड़े नोटिफिकेशंस भी नहीं मिलते. इस बार में एप्पल की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

  1. टेकक्रंच की मानें तो एयर कनाडा और एक्सपीडिया जैसे पॉप्युलर ऐप ग्लासडोक्स की मदद से एप्पल यूजर की गतिविधियों को ट्रैक करते हैं. होटल, ट्रेलव वेबसाइट, एयरलाइंस, बैंक्स और कई अन्य फील्ड से जुड़े ऐप्स आईफोन पर लोगों की गतिविधियों को ट्रैक करते हैं. इसी तरह सिंगापुर एयरलाइंस और होटल्स डॉट कॉम भी ऐसे काम करते हैं.
  2. हालांकि, बाद में टेकक्रंच ने ये भी बताया कि आईएएस प्लेटफॉर्म पर इन ऐप्स ने यूजर के डेटा का गलत इस्तेमाल नहीं किया. वेबसाइट ने इस बात पर जरूर जोर दिया है कि इस मामले में आईओएस को एक प्राइवेसी पॉलिसी बनानी होगी, ताकि निकट भविष्य में लोगों को किसी तरह की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े.
  3. मालूम हो कि स्मार्टफोन में चाहे आईओएस हो या एंड्रॉयड, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस समेत अन्य फीचर्स होने से हाल के दिनों में यूजर की गतिविधियों पर वाकई कई ऐप्स की नजर रहती है और वे यूजर्स को प्रभावित करने के लिए उसकी पसंद के अनुसार ही विज्ञापन दिखाते हैं, चाहे वे विज्ञापन ट्रैवल से जुड़े हों, शॉपिंग से जुड़े हों या अन्य क्षेत्रों से.

Apple FaceTime Bug: आईफोन में आई खामी अभी भी नहीं हुई ठीक, एप्पल ने कहा इंजीनियर कर रहे हैं काम

Facebook Paid for Private Data: डाटा हासिल करने के लिए फेसबुक ने यूजर्स को दिए पैसे, दुनिया में मचा हड़कंप

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App