नई दिल्ली: कोरोना लॉकडाउन के बाद देश के स्मार्टफोन बाजार में फिर से बहार लौट आई है. स्मार्टफोन की बिक्री में धुआंधार बढोतरी देखने को मिल रही है. साल 2020 की तीसरी तिमाही यान जुलाई-सितंबर में स्मार्टफोन की बिक्री अब तक के सर्वकालिक उच्च स्तर यानी पांच करोड के पार हो गई है. हालांकि इसमें खास बात ये है कि मेक इन इंडिया और चीनी सामानों के बहिष्कार वाले कैंपेन के बावजूद स्मार्टफोन मार्केट में चीनी कंपनियों के मोबाइल फोन की कुल हिस्सेदारी करीब 76 फीसदी रही. यानी भारतीय बाजारों में अब भी चीनी मोबाइल फोन का दबदबा है.

बाजार के आंकड़े जुटाने वाली कंपनी कैनालिस की रिपोर्ट बताती है कि शीर्ष पांच मोबाइल फोन कंपनी शियोमी, सैमसंग, विवो, रीयलमी और ओप्पो की बिक्री में पिछले साल की समान अवधि की तुलना में वृद्धि दर्ज की गयी है. यानी इन कंपनियों ने कोरोना लॉकडाउन की लगभग भरपाई कर ली है. कैनालिस ने अपने बयान में कहा कि 2020 की तीसरी तिमाही में देश में स्मार्टफोन की बिक्री आठ प्रतिशत बढ़कर पांच करोड़ इकाई रही. पिछले साल इसी तिमाही में यह 4.62 करोड़ इकाई रही थी. यह देश में किसी एक तिमाही में स्मार्टफोन की बिक्री का सर्वकालिक उच्च स्तर है.

मोबाइल फोन के बाजार में हिस्सेदारी की बात करें तो चीनी कंपनी शाओमी 26.1 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ शीर्ष पर रही. तीसरी तिमाही में शाओमी ने 1.31 करोड़ फोन की बिक्री की. वहीं सैमसंग वीवो को पछाड़ते हुए दूसरे नंबर पर आ गया है. सैमसंग ने इस दौरान 1.2 करोड़ मोबाइल फोन की बिक्री की है. सैमसंग 20.4 फीसदी हिस्सेदारी रखता है. इसके बाद तीसरे नंबर पर वीवो है जो 88 लाख फोन की बिक्री कर 17.6 फीसदी हिस्सेदारी पर कब्जा किए हुए हैं. रियलमी 87 लाख फोन की बिक्री के साथ 17.4 फीसदी हिस्सेदारी रखे हुए है. एप्पल ने भी आठ लाख मोबाइल फोन बेचे हैं.

Aadhaar PVC Card: अब किसी भी मोबाइल नंबर से OTP भेजकर मंगवाएं पीवीसी आधार कार्ड, जानें पूरी खासियत

New Motor Vehicle Rules: 1 अक्टूबर से बदल रहे मोटर वीइकल रूल्स, ड्राइविंग लाइसेंस और RC नहीं रखना होगा साथ

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर