मथुराः अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में रहने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बार फिर से चर्चा में बने हुए हैं और इस बार चर्चा का विषय उनका कोई बयान नहीं बल्कि वो नायाब फॉर्मूला है जो उन्होंने बंदरों के उत्पात से बचने के लिए बताया है. योगी ने कहा कि अघर बजरंग बली की आरती और हनुमान चालीसा का पाढ किया जाए तो बंदर किसी को भी तंग नहीं करेंगे. जिसके बाद उनका ये नायाब उपाय पूरे सूबे में चर्चा का विषय बना हुआ है.

शुक्रवार को उत्तर प्रदेश की धार्मिक नगरी वृंदावन में स्थितअक्षयपात्र में आयोजित एक कार्यक्रम में शामिल हुए यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उन्हे इस क्षेत्र से बंदरों के कारण होने वाली परेशानी का मामला उठाते हुए कहा कि, जब मैं यहां आया तो मुझसे कहा गया कि यहां पर बंदर बडे़ परेशान कर रहे हैं. जिसपर मैंने कहा बजरंग बली की आरती करना शुरु करो और हनुमान चालीसा का पाठ करो बंदर कभी नुकसान नहीं पहुंचाएगा.

जिसके बाद उन्होंने मंच से गोरखपुर का अपना एक संस्समरण सुनाते हुए कहा कि जब वह गोरखपुर के कार्यालय में काम कर रहे थे तब वहां अक्सर एक बंदर उनके ऑफिस में आकर उनकी गोद में बैठ जाता था जिसके बाद वह उसे केला देते थे और वह गोद से उतर कर चला जाता था. जब एक पार्टी कार्यकर्ता ने यह देखा तो मुझसे पूछा कि आपने उस बंदर को अपनी गोद में क्यों बैठा रखा है.

अगले दिन जब वह कार्यकर्ता ऑफिस आया तो उस बंदर ने उसकी धोती पकड़ ली और उसे काटने की भी कोशिश की लेकिन जब मैंने उसे डांटा तो वह चुपचाप वहां से जाकर पेड़ पर चढ़ गया. इस किस्से को सुनाते हुए उन्होंने इस बात को समझाने की कोशिश की कि बंदरों को प्रेम करो उन्हें भगाओ मत. वो नुकसान नहीं पहुंचाएंगे

बीजेपी सांसद सरोज पांडेय ने राहुल गांधी को कहा मंदबुद्धि बोलीं- सीखने की भी एक उम्र होती है

बीजेपी सांसद भरत सिंह का आरोप, ईसाई मिशनरियों के इशारे पर काम कर रहे सोनिया और राहुल गांधी

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App