नई दिल्लीः राजधानी के निजामुद्दीन इलाके में एक महिला ने अपनी सात महीने की बच्ची की गला घोंटकर बेरहमी से हत्या कर दी क्योंकि उसका मानना था कि उसके बेटी मनहूस है. हत्या के बाद मां बेटी का शव बाथरूम में रखे पानी के टब में डाल दिया जिससे कि ये हादसा लगे. उसने घरवालों को भी यही बताया कि उसकी बेटी टब में डूबने से मर गई लेकिन जांच के दौरान जब बच्ची के गले पर निशान पाए गए तो पुलिस को शक हुआ जिसके बाद महिला से सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने अपनी बेटी की हत्या की बात कबूल की.

पुलिस का कहना है कि मां की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है, उपचार के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस उपायुक्त चिन्मय बिस्वाल ने बताया कि मृत बच्ची के पिता इशरार खान पेशे से टेलर हैं वह परिवार के साथ निजामुद्दीन इलाके में रहते हैं उनकी शादी करीब डेढ़ साल पहले अदीबा खान से हुई थी. जिसके बाद सात माह पहले बेटी का जन्म हुआ था जिसके बाद से ही अदीबा बीमार रहने लगी.

बीमारी की वजह से घर के आर्थिक हालात भी बिगड़ने लगे. जिस कारण अक्सर दंपत्ति के बीच झगड़ा भी होता था, इस वजह से अदीबा बेटी को मनहूस मानने लगी थी. 20 अगस्त को घर में हुई कलह से गु्स्साई मां अदीबा ने अपनी बेटी की गला घोंटकर हत्या कर दी.जिसके बाद जुर्म छिपाने के लिए बच्ची के शव को बाथरूम में रखे टब में डाल दिया जिससे कि ये हादसा लगे लेकिन सख्ती से पूछताछ के बाद उसने हत्या की बात कबूल कर ली. पुलिस ने मां को गिरफ्तार कर लिया है. 

यह भी पढ़ें- नशे में धुत राजस्थान बीजेपी नेता  बद्रीनारायण मीणा के बेटे भारत भूषण ने फुटपाथ पर सो रहे चार मजदूरों पर चढ़ा दी स्कोर्पियो कार, दो की मौत

प्रेमी संग मिलकर युवती ने रची खुद की हत्या की साजिश, दहेज मामले में ससुराल वालों को पहुंचाया जेल

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App